maharani hospital jagdalpur

जगदलपुर-महारानी अस्पताल के प्रसूति वार्ड में अगर किसी ग्रामीण महिला के यहां डिलवरी होती है तो वहाँ पर काम करने वाले कर्मचारियों के द्वारा पैसो का डिमांड बढ़ जाता है,ग्रामीणों द्वारा अपनी खुशी से देने वाले पैसो को मना करते हुए अपने हिसाब से पैसे माँगते है,ये पैसो को सभी स्टाफ के नाम पर माँगते है,लेकिन सच बात तो ये है कि स्टॉफ नर्सो को इसकी भनक भी नही लगती की पैसा उनके नाम पर भी लिया जा रहा है।इसी पैसो के बढ़ते मामलों को लेकर एक ग्रामीण ने इसकी शिकायत सिविल सर्जन से लिखित में कई है,जिसके बाद एक बैठक भी आहूत किया गया और कर्मचारियों को समझाइश दी गई है।मामले के बारे में बताया गया है कि मेडिकल कॉलेज के अलग होने के बाद भी पैसो का लेनदेन बंद नही हुआ है,पहले एक साथ होने के कारण तो पैसो की डिमांड ज्यादा था।

पैसा लेने वाले सफाई कर्मचारियों के साथ ही वार्ड आया लेते थे

उनका कहना था कि जो पैसे ले रहे है उसमें स्टाफ नर्स, चिकित्सक व अन्य कर्मचारियों को भी हिस्सा दिया जाता है।इस मामले के उजागर होने के बाद प्रबंधन द्वारा एक पत्र भी जारी कर दिया गया था,जिसमे साफ तौर पर इस बात की लिखा गया था कि अगर कोई भी कर्मचारी मिठाई या फिर किसी अन्य नामो से प्रसूति महिलाओ से पैसा लेने पर इन नंबरों पर शिकायत करने की बात भी कही गई थी।मेडिकल कॉलेज के अलग होने के बाद यहाँ पर मरीजो का आना कम हो गया था,लेकिन फिर से भर्ती और होने वाली डिलवरी के चलते कर्मचारियों के हौसले बुलंद हो गए।

Read More: अज्ञात व्यक्ति ने व्यापारी के सर पर बैट मारकर कर दी हत्या,मौक़े पर हुई मौत

ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली महिलाओं से पैसे लेने का काम शुरू हो गया

शिकायत के बाद हुई बैठक जानकारी में मिला कि डिलवरी वार्ड में होने वाली वसूली की शिकायत मिलने के बाद अधिकारियों के द्वारा एक बैठक आहूत की गई,जिसमे सफाई कर्मचारियों के साथ ही वार्ड आया को चेतावनी दिया गया है कि इस तरह के मामले दुबारा न आये।

अस्पताल में चल रहा है,नया काम

जानकारी में इस बात का भी पता चला है कि जिन कर्मचारियों की ड्यूटी वहाँ पर लगाई गई है, उनके जगह पर कोई दूसरा कर्मचारी आकर वर्षो से काम कर रहा है।इस बात को भी बताया गया है कि जो नियमित कर्मचारी है,वो महीने का हजारो रुपये तो ले रहे है लेकिन जो उनके जगह काम कर रहे है उन्हे कुछ पैसे देकर घर बैठे पैसे कमा रहे है।इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ विवेक जोशी का कहना है कि इस मामले की शिकायत मिलने के बाद डॉ पांडेय को जांच करने की बात कही गई है, कोई सफाई कर्मचारी द्वारा पैसा लिए जाने की बात भी सामने आई है, 2 से 4 दिन के अंदर कार्यवाही करने की बात कही गई है।

Summary
0 %
User Rating 3.56 ( 4 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Droughty CG:अवर्षा के कारण प्रदेश में सूखा की स्थिति,पलायन का बढ़ रहा खतरा

दुर्ग। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा ने कहा है कि अवर्षा के कारण छत्तीसगढ़ में सूखा…