Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Apartment में रहना आपकी सेहत के लिए हानिकारक,कई बीमारियों का हो सकता है खतरा

Apartment

वायु प्रदूषण और अपार्टमेंट की इमारतों में रहना ह्रदय रोगों, स्ट्रोक और डायबिटीज जैसी घातक स्वास्थ्य स्थितियों के विकसित होने के खतरे को बढ़ा सकता है।एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है।

लिथुआनिया यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के शोधकर्ताओं ने लंबे समय तक वायु प्रदूषण के परिवेश के संपर्क में आने और हरी-भरी जगहों व विशाल सड़कों से आवासीय दूरी के बीच संबंध को जांचा गया,जो कि हाइपरटेंशन व मेटाबॉलिक सिंड्रोम के कुछ तत्वों के विकसित होने का संकेत देती है।

इन तत्वों में हाई ट्रिग्लीसेराइड लेवल, रिड्यूस्ड हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रोल,हाइर ब्लड ग्लूकोज और मोटापा शामिल है।यह घटक उन लोगों में अधिक पाए गए,जो या तो निजी या फिर मल्टीफैमिली घरों में रहते हैं।

निष्कर्षों में सामने आया कि सामान्य से अधिक वायु प्रदूषण का स्तर रिड्यूस्ड हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन के अधिक खतरे के साथ जुड़ा हुआ है।

जर्नल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रकाशित अध्ययन के मुख्य लेखक एजीन ब्रेजीन ने कहा, ”हमारे शोध के निष्कर्ष बताते हमें ये कहने में सक्षम बनाते हैं कि हमें जितना हो सके मल्टीफैमिली घरों में एक व्यक्ति के रहने की जगह को नियंत्रित करना चाहिए, अपार्टमेंट के नॉयस इंसुलेशन में सुधार करना चाहिए और मल्टीफैमिली हाउस में हरी-भरी जगहों के विकास को बढ़ावा देना चाहिए।”

यातायात संबंधी चीजों के संपर्क में आना हाइपरटेंशन,हाई ट्रिगलीसेराइड लेवल और रिड्यूसड हाई-डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रोल के साथ जुड़ा हुआ है।हालांकि यातायात वायु प्रदूषण का नकरात्मक प्रभाव उन लोगों में अधिक देखा गया,जो मल्टी फैमिली इमारतों में रहते हैं।

मल्टीफैमिली अपार्टमेंट की इमारतों के समीप अधिक यातायात होना भी हाइपरटेंशन की घटनाओं के साथ जुड़ा हुआ है।

इसके अलावा, खुद से तैयार माहौल,आवासीय कॉलोनी में भीड़भाड़,सड़कों पर यातायात जैसे कारक सामाजिक जुड़ाव व समर्थित रिलेशनशिप से जुड़े हैं,जो ह्रदय स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकती है।

शहरों में मौजूद खुले सार्वजनिक स्थानों पर हरियाली,उनके आकार और प्रकार (गतिविधि) का मूल्यांकन जोखिम भरे कारकों से विपरीत पाया गया है।शोधकर्ताओं ने इसके अलावा प्राकृतिक पर्यावरण के सकरात्मक प्रभाव पाए हैं और इस प्रकार की जगहों के ह्रदय स्वास्थ्य पर होने वाले सकरात्मक प्रभावों पर जोर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.