जांजगीर – एडीबी योजना के तहत जैजैपुर से गोबराभाठा तक बन रही सड़क गुणवत्ता विहीन नजर आ रही है। सड़क की लंबाई 35 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण लगभग सौ करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है। सड़क निर्माण का कार्य 2019 मे शुरू किया गया था, लेकिन अब तक पूर्ण नहीं हो सका है। सड़क में अभी डामरीकरण का कार्य किया जा रहा है। लेकिन सड़क में गुणवत्ता का अभाव नजर आ रहा है। जिसे देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सड़क कितने दिन चलेगी।

जैजैपुर नगर को सीधे गोबराभाठा से जोड़ने के लिए एडीबी योजना से स्वीकृति हुआ है । इसका मुख्य उद्देश्य खण्डर रास्ता न होकर लोगो को आवागमन में बेहद सुविधा और शीघ्रता व सुगमता से सभी जगह आसानी पहुंचा जा सके लेकिन जैजैपुर,तुषार,बोड़सरा, बेलादुला, कचन्दा,अमेराडीह,पिहरीद,मिशनचौक,सीपत,नगझर,कनाईडीह, बेल्हाडीह,फ़रसवानी,गोबराभाठा तक की सड़क की हालत बुरा हाल है। करोड़ों की लागत से बन रही सड़कों में गुणवत्ता नजर नहीं आती है।

सड़क की गुणवत्ता की और विभागीय अधिकारियों द्वारा किसी तरह का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसके कारण सड़क और खराब होती जा रही है।निर्माण कार्य के दौरान जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से कार्य का निरीक्षण नहीं किए जाने के कारण ठेकेदार द्वारा मनमाने ढंग से कार्य किया जा रहा है और गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। साथ ही सड़क की मोटाई भी निर्धारित मापदंड के अनुरूप नजर नहीं आ रही है।इस संबंध में एडीबी के एसडीओ के मोबाइल नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया

रमेश साहू की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *