कोंडागांव : सल्फीपदर के प्राथमिक शाला मे ऑफलाइन क्लास शुरू,खुले मैदान में बच्चो को मिल रही शिक्षा

कोंडागांव MyNews36 प्रतिनिधि- कोरोना महामारी भारत में ही नहीं पूरे विश्व में फैला हुआ है, जिसका प्रकोप धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है जिसके कारण जनजीवन पूरी तरह प्रभावित हो रहा है।इसको देखते हुए छत्तीसगढ़ शिक्षा विभाग द्वारा पढ़ाई तुंहर दुवार कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षकों द्वारा बच्चो की ऑनलाइन क्लास ली जा रही है।लेकिन ग्रामीण क्षेत्रो में ऑनलाइन क्लास सुचारू रूप से नही चल पा रही है इसमें बहुत सारी परेशानी आ रही है जैसे गांव के बच्चों के पास स्मार्ट फोन नहीं है गांव में नेटवर्क की परेशानी है तथा मोबाइल में बैलेंस की परेशानी आदि जैसे बहुत की समस्याएं है जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चे ऑनलाइन क्लास में नहीं जुड़ पा रहे हैं जिसे वे इस पढ़ाई से वंचित हो रहे है, जिसमे केवल कुछ बच्चे ही ऑनलाइन क्लास से जुड़ पा रहे हैं जो बच्चो व पालको के लिए परेसानी बनी हुई है जिसको देखते हुए, स्लफिपदर प्राथमिक शाला के शिक्षक देव कुमार जगत के पहल से पालको एवं ग्रामवासियों द्वारा बैठक में चर्चाकर बच्चों को ऑफलाइन क्लास के माध्यम से पढ़ाई करवाये जाने की बात कही गई।

जहां खुली मैदान में प्रशासन के निर्देशों के अनुसार मास्क पहन व सोशल डिस्टेंस का पूरी तरह पालन करते हुए सप्ताह में 3 दिन क्लास शुरू करने का निर्णय लिया गया, जिसे की ग्राम के बच्चों की पढ़ाई हो सके वे पढ़ाई से प्रभावित न हो।इस ऑफलाइन पढ़ाई में ग्रामवासियों द्वारा मदद भी मिल रही है। जहा सभी नियमो का पालन करते हुए बच्चो को मैदान में सोशल डिस्टेंश का पालन करवाते हुए शिक्षा दी जा रही है ।

शिक्षकों ने बच्चों के लिए खरीदा मास्क

सल्फीपदर प्राथमिक शाला के शिक्षक देव कुमार जगत ने ऑफलाइन क्लास को सोशल डिस्टेंस के साथ सुचारू रूप से संचालित करने के लिए बच्चों को मास्क का वितरण किया गया और बच्चो को खुले मैदान में शिक्षा दे रहे हैं, और बच्चों से प्रतिदिन मोबाइल से बात करते है और उनसे पढ़ाई के बारे में जानकारी भी लेते रहते हैं शिक्षक जगत नेताम ने बहुत सारे बच्चों को मोबाइल नंबर अपने मोबाइल में सेव करके रखे हुए हैं जहा वे हट दिन समय निकालकर बच्चे एवं उनके पालकों से फोन करके उनकी पढ़ाई का जायजा लेते रहते हैं। साथ ही छुट्टी के दिनों में भी गांव आकर बच्चों एवं उनकी पालकों से जानकारी लेते रहते हैं।

खुली जगह में पढ़ाई करके बच्चे खुश

कोरोना संकट के कारण स्कूल बंद होने से बच्चे अपने शिक्षा से वंचित हो रहे थे लेकिन बहुत दिनों बाद बच्चे स्कूल जगह से अलग खुले मैदान में पढ़ाई करने से बच्चे खुश नजर आए उन्हें पहले की तरह स्कूल की पढ़ाई हो रही है जहा वे पढ़ाई के लिए बहुत उत्साहित दिखे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.