सियोल- उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन की बहन ने शुक्रवार को कहा कि इस साल उन्हें उनके भाई के अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करने की उम्मीद नहीं है क्योंकि उत्तर कोरिया के पास ट्रंप को हाई प्रोफाइल बैठकों का तोहफा देने की कोई वजह नहीं है जबकि उसे इसके बदले में कुछ भी ठोस नहीं मिल रहा है।

किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग के हवाले से उत्तर कोरिया की आधिकारिक समाचार एजेंसी कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी द्वारा जारी एक बयान में परमाणु कूटनीति को सक्रिय रखने के लिए अमेरिका द्वारा अहम छूट दिए जाने के वादे का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन साथ ही आपको नहीं पता कि कब क्या हो जाए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी हैरान करने वाली बात हो सकती है और यह दोनों शीर्ष नेताओं के फैसले पर निर्भर करता है।’’

किम यो जोंग ने कहा कि अगर शिखर वार्ता की जरूरत होती है तो यह अमेरिका की जरूरत है जबकि उत्तर कोरिया के लिए यह ‘‘अव्यावहारिक है और इससे हमें कोई फायदा नहीं है।’’

किम यो जोंग अपने भाई की विश्वासपात्र है और हाल फिलहाल में वह उत्तर कोरिया के मामलों में काफी सक्रिय रही हैं।उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब कोरिया मामले के अमेरिका का शीर्ष अधिकारी एशिया में है। उप विदेश मंत्री स्टीफन बीगन सियोल में दक्षिण कोरियाई अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद जापान गए हैं। सियोल में उन्होंने उत्तर कोरिया के एक वरिष्ठ परमाणु वार्ताकार पर पुरानी सोच पर अटके रहने का आरोप लगाया है।

उनकी टिप्पणियों से प्रतीत होता है कि उत्तर कोरिया के दबाव के बावजूद अमेरिका वार्ता बहाल करने के बदले में प्रतिबंधों में छ्रट देना नहीं चाहता।एपी गोला रंजन रंजन 1007 1116 सियोल (भाषा)

Leave a Reply

Your email address will not be published.