Junior Doctors

रायपुरमेकाहारा के जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल सोमवार की रात खत्म हो गई।आश्वासन ये मिला कि-उनका स्टाइपेंड बढ़ाने संबंधित मांग पर सरकार विचार करेगी।सरकार ने चिकित्सा शिक्षा संचालक (DME) से स्टाइपेंड बढ़ाने संबंधित प्रस्ताव मांगा था,जो भेज दिया गया है।अगर स्टाइपेंड बढ़ाया जाता है तो सरकार पर 12.28 करोड़ रुपये सालाना का अतिरिक्त आर्थिक भार पड़ेगा।अब सवाल यह है कि-जो प्रस्ताव भेजा गया है,उस पर सरकार किस हद तक सहमत होती है।

Whats App ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

इसके अलावा इसी प्रस्ताव में मेडिकल ऑफिसर,डेमोस्ट्रेटर और जूनियर रेसीडेंट का वेतन बढ़ाए जाने का भी जिक्र है।सूत्रों के मुताबिक सरकार इस प्रस्ताव पर केबिनेट बैठक में मंथन करेगी,इसके बाद इसे विधानसभा में प्रस्तुत किया जाएगा।प्रस्ताव में यात्रा भत्ता,अव्यवसायिक भत्ता,मकान किराया,थीसिस भत्ता,कांफ्रेंस के लिए पंजीयन शुल्क भी निर्धारित करने की बात उल्लेखित है,मगर इस पर नीतिगण निर्णय सरकार लेगी।

स्टाइपेंड बढ़ाने संबंधित प्रस्ताव के मुताबिक

वर्ष मौजूदा स्टाइपेंड प्रस्तावित
प्रथम 42,500 61,149
द्वितीय 45,000 63,002
तृतीय 47,000 64,855
इंटर्न 10,000 15,000

प्रदेश में 770 जूनियर डॉक्टर्स,इंटर्न -प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में PG सीट के मुताबिक प्रथम वर्ष 124,द्वितीय वर्ष 124,तृतीय वर्ष में 103 जूनियर डॉक्टर्स सेवारत हैं।इंटर्न की कुल संख्या 770 है।देखना यह है कि सरकार इनके स्टाइपेंड में कितनी वृद्धि करती है।

Add By MyNews36
Summary
0 %
User Rating 4.65 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Transfer :तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के स्थानांतरण आदेश जारी

जिले में 12 विभागों के कर्मचारियों का हुआ तबादला कांकेर-उत्तर बस्तर कांकेर 16 जुलाई 2019- …