Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Jammu Kashmir: आतंकी लेना चाहते थे सर्जिकल स्ट्राइक का बदला,दिल्ली और पंजाब पर हमले की साजिश में शामिल dsp दविंदर-पुलिस सूत्र

श्रीनगरजम्मू-कश्मीर(Jammu Kashmir) के कुलगाम में शनिवार को डीएसपी दविंदर सिंह के साथ पकड़े गए हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है।पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, ये आतंकी सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाए हुए थे और इसी का बदला लेने के लिए दिल्ली, पंजाब और चंडीगढ़ में हमले की साजिश रच रहे थे।

मिली जानकारी के अनुसार, डीएसपी दविंदर कई मोबाइल फोन नंबरों का इस्तेमाल कर रहा था। इनमें से कुछ नंबरों से वह आतंकियों से भी बात करता था।ये आतंकी सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेने के लिए भारत में बड़ा धमाका करना चाहते थे।इस हमले को अंजाम देने के लिए कुछ और आतंकी भी इस ग्रुप से जल्द ही जुड़ने वाले थे। DSP को इन सभी आतंकियों के लिए ठहरने की व्यवस्था कराना था। इस बीच जांच में पता चला है कि दविंदर सिंह ने पकड़े गए आतंकियों को अपने घर में भी पनाह दी थी।

DSP को करनी थी ठहरने की व्यवस्था

जांच एजेंसियों को ऐसी आशंका है कि पकड़े गए ये आतंकी आईएसआई के निर्देशों के तहत खालिस्तान आतंकवादियों के संपर्क में भी थे और डीएसपी दविंदर सिंह को इन आंतकियों के लिए दिल्ली और चंढीगढ़ में ठहरने की व्यवस्था करना था।

जानकारी के मुताबिक, जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर मीर बाजार में जब दविंदर सिंह को पकड़ा गया था, तब वो हिजबुल मुजाहिदीन आतंकियों को कश्मीर से चंडीगढ़ ले जा रहा था।अधिकारियों ने बताया कि इन आतंकियों ने शुक्रवार को दविंदर के घर पर ही डिनर किया और रात वहीं बिताई। इन आतंकियों की पहचान शीर्ष हिजबुल कमांडर नवीद बाबू और उसके दो साथी इरफान और अल्ताफ के तौर पर हुई।

कैसे हुई गिरफ्तारी?

अधिकारियों ने बताया कि दविंदर सिंह तीनों आतंकियों को सादे कपड़े में शनिवार सुबह करीब 10 बजे घर से निकले थे।पुलिस ने श्रीनगर से लगभग 60 किलोमीटर दूर उनकी कार को रोका था।अधिकारियों ने बताया कि गड़बड़ी कर फंस जाने के बाद दविंदर सिंह पुलिसवालों के सवालों का गोलमोल जवाब दे रहे थे, जिसके बाद उन्हें आतंकियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया और बाद में उनके घर की तलाशी ली गई।

Comments are closed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.