कोरोना महामारी के दौरान अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ का ध्यान रखना आवश्यक- डॉ. अमिताभ बैनर्जी

रायपुर MyNews36- शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय रायपुर में छात्राओं के लिए मशरूम कल्टिवेशन पर एक वैल्यू ऐडेड कोर्स डिजिटल प्लेटफार्म पर आयोजित किया जा रहा है,यह कोर्स सात दिवसीय ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है।जिसका समापन रविवार को कृषि महाविद्यालय के प्रोफेसर के हाथों होना है।

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. अमिताभ बैनर्जी ने इस कोर्स का ऑनलाइन उदघाटन किया।प्राचार्य ने सम्बोधन में कहा कि- अभी सभी को इम्युनिटी बढ़ाने की आवश्यकता है और उन चीज़ों को अपने आहार में लेना चाहिए जो हमारी रोगों के प्रति लड़ने की शक्ति को बढ़ाये।डॉ. बैनर्जी ने बताया कि- इस लॉकडाउन के दौरान बच्चों को घर पर ही ज्ञान मिलता रहे क्योकि इस कोरोना महामारी के दौरान अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ का ध्यान रखना आवश्यक है।

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथि डॉ. प्रदीप कुमार पात्रा ने कार्यक्रम को संबोधित करते मशरूम के औषधीय महत्व को बताया।उन्होंने बताया कि-मशरूम खाने से बहुत से रोगों जैसे- कैन्सर,दिल की बीमारी,मोटापा,शुगर जैसी कई गंभीर बीमारियों को दूर किया जा सकता है।

वही दूसरे दिन विज्ञान महाविद्यालय की वनस्पति विज्ञान की प्राध्यापिका डॉ. सुनीता पात्रा के द्वारा मशरूम के रिप्रोडक्शन और व्यवसाय के रूप में अपनाने की विधि को बताया।

इसी क्रम में आज यानि बुधवार को विज्ञान महाविद्यालय की प्राणी शास्त्र की प्राध्यापक डॉक्टर कविता दास ने मशरूम के जैव रासायनिकी को बताया कि-इसमें क्या पाया जाता है जो ये औषधि के रूप में उपयोगी है।

इस कोर्स की संयोजक डॉ.कविता शर्मा ने बताया कि-आगे के क्रम में कृषि विश्वविद्यालय व दूधाधारी महिला महाविद्यालय के विशेषज्ञ भी अपना व्याख्यान देंगे।
इस कोर्स में 205 छात्राओं ने पंजीकरण करवाया है और कोर्स अटेंड करके प्रसन्नता ज़ाहिर कर रहे हैं।

दूधाधारी महाविद्यालय की प्राध्यापक डॉ.उशाकिरण अग्रवाल ने कहा कि यह कोर्स छात्राओं को बहुत लाभकारी रहेगा।इस कोर्स में डॉ.रेणु माहेश्वरी, डॉ.अविनाश शर्मा, डॉ. संगीता बाजपेई,उषा अग्रवाल, डॉ.शीला दूबे, डॉ.अंजना, पूजा यादव, डॉ.रंजना तिवारी, नरेश पूरी, रवि शर्मा, प्रीति पाण्डे, डॉ.नगवानी, लक्ष्मी देओननी, कल्पना झा, सुषमा तिवारी आदि प्राध्यापक इस कोर्स में शामिल हैं।

सभी ने इस कोर्स की लॉकडाउन के दौरान करने की सराहना की।छात्राओं ने भी ख़ुशी ज़ाहिर की तथा कहा कि घर में रह कर केवल करोना की निगेटिव बातें ज़्यादा सुनाई दे रहीं थीं पर अब मन परिवर्तित हुआ इस कोर्स से कुछ क्रीएटिविटी करने का मन होने लगा।

इस कोर्स के दौरान असाइनमेंट के ज़रिए बच्चों के बीच प्रतियोगिता भी आकर्षण का केंद्र है।कल के असाइनमेंट में मेघा मिश्रा और प्रियंका एक्का ने कैश प्राइज़ जीता।बता दे कि- रविवार को इस कोर्स का समापन है,जिसमें कृषि महाविद्यालय के प्रोफेसर एम.पी.ठाकुर द्वारा मशरूम का व्यावसायिक महत्व प्रॉसेसिंग और मार्केटिंग पर व्याख्यान दिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.