बरसात से पहले खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान उपार्जन एवं निराकरण करने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश

अतिशेष धान की निलामी के लिए 6 मई तक की समय सारणी की गई है जारी

रायपुर – छत्तीसगढ़ विपणन संघ द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में प्राप्त उपार्जन धान के निराकरण की कार्यवाही की जा रही है।उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बरसात के पहले खरीफ वर्ष 2020-21 में उपार्जन धान के निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देशित किये है। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में 92 लाख मीट्रिक टन धान का उपार्जन हुआ है।महाप्रबंधक(विपणन) से प्राप्त जानकारी के अनुसार उपार्जन धान के निराकरण हेतु नागरिक आपूर्ति निगम में जमा हेतु 23.95 लाख मीट्रिक टन चावल तथा भारतीय खाद्य निगम में जमा हेतु 24 लाख मीट्रिक टन चावल का लक्ष्य प्राप्त हुआ है।

इससे कुल 71.21 लाख मीट्रिक टन धान का निराकरण होगा,जिसके विरूद्व 54.15 लाख मीट्रिक टन का निराकरण मिलरों के माध्यम से किया जा चुका है। मिलिंग की कार्यवाही सतत प्रक्रियाधीन है। राज्य शासन द्वारा पुनः 6.75 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आबंटन दिया गया है। अतिशेष धान की निलामी की कार्यवाही भी की जा रही हैं। निलामी के लिए 6 मई 2021 तक की समय सारणी जारी कर दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.