भारत और एडीबी ने बेंगलुरू में बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और निर्भरता बढाने के लिए 10 करोड डॉलर के ऋण समझौते पर किये हस्ताक्षर

भारत और एशियाई विकास बैंक -एडीबी ने कर्नाटक के बेंगलुरू शहर में बिजली की आपूर्ति की गुणवत्ता और निर्भरता बढाने के उददेश्य से बिजली वितरण प्रणाली के नवीकरण और इसे बेहतर बनाने के लिए दस करोड डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। बेंगलुरू स्मार्ट ऊर्जा कारगर बिजली वितरण परियोजना के समझौते पर वित्त मंत्रालय के अपर सचिव डॉक्टर सी एस मोहापात्रा और बैंक के भारत में प्रभारी श्री हो यूं जिओंग ने हस्ताक्षर किये।

वित्त मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा है कि दस करोड डॉलर के सरकारी ऋण के अलावा बैंक ने बिना किसी सरकारी गारंटी के 9 करोड डॉलर का ऋण इस परियोजना के लिए कर्नाटक में पांच सरकारी बिजली वितरण संस्थानों में से एक, बेंगलुरू बिजली आपूर्ति कंपनी लिमिटेड-बैस्कौम को दिया है।

ऋण समझौते पर हस्ताक्षर के बाद, डॉक्टर मोहापात्रा ने कहा कि ओवरहेड वितरण लाइनों को अंडरग्राउंड केबल में परिवर्तित करने से ऊर्जा – कारगर वितरण नेटवर्क बनाने में, तकनीकी और वाणिज्यिक नुकसान कम करने में और प्राकृतिक आपदाओं के कारण बिजली में न्यूनतम रूकावट हासिल करने में मदद मिलेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.