रायपुर- राजधानी रायपुर में रविवार को व्यापम द्वारा आयोजित डाटा एंट्री आपरेटर के रिक्त पदों पर भर्ती की परीक्षा के दौरान फर्जी एडमिट कार्ड से परीक्षा देने का मामला सामने आया।मामले की जानकारी देते हुए तेलीबांधा थाना प्रभारी सोनल ग्वाला ने बताया कि रायपुर के जेआर नायडू शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की परीक्षा केंद्र अधिकारी साक्षी खरे की शिकायत पर आरोपित चॉइस सेंटर संचालक नीलेश देवांगन पिता बलराम देवांगन को गिरफ्तार किया गया है।

थाना प्रभारी ग्वाला ने बताया कि आरोपित ने अभ्यर्थी मीना साहू से आनलाइन फार्म का पैसा लेकर फार्म नहीं भरा था और युवती की परीक्षा नज़दीक आने पर एडमिट कार्ड की मांगने पर उसे छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी चंद्रकांत के नाम का एडमिट कार्ड को कूटरचना कर फर्जी एडमिट कार्ड तैयार करने के बाद परीक्षा देने आई मीना को दिया था।

परीक्षा सेंटर पर खुला मामला

पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब मीना परीक्षा देने रायपुर के तेलीबांधा स्थित जेआर नायडू शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परीक्षा केंद्र पर पहुंची। परीक्षक द्वारा बताया गया कि इस नंबर का एडमिट कार्ड चंद्रकांत के नाम का है। जहां उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। परीक्षा से वंचित छात्रा परीक्षा केंद्र पर रोने लगी। इसके बाद छात्रा के साथ परीक्षा केंद्र अधिकारी साक्षी खरे ने तेलीबांधा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई।तेलीबांधा थाना पुलिस को दी। पुलिस ने छात्रा के मामले की गंभीरता से लेते हुए फर्जी एडमिट कार्ड देने वाले चाइस सेंटर के संचालक राजनांदगांव निवासी आरोपित निलेश देवांगन को गिरफ्तार कर रायपुर लेकर आई।पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.