कोरोना संक्रमण को देखते हुए पोषण पखवाड़ा की गतिविधियों का आयोजन डिजिटल प्लेटफार्म पर

कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए पोषण अभियान अंतर्गत प्रदेश में आयोजित पोषण पखवाड़ा का आयोजन डिजिटल और सोशल मीडिया के माध्यम पर किया जााएगा। इस दौरान वीडियो क्लिपिंग, मुनादी, सुपोषण रथ, डिजिटल प्रश्नोत्तरी सहित अन्य प्रतियोगिताओं, गृह भेंट, ऑडियो मैसेज, जिंगल्स के माध्यम से लोगों में पोषण और स्वास्थ्य जागरूकता के प्रयास किए जाएंगे।

इस संबंध में इंद्रावती भवन स्थित महिला एवं बाल विकास संचालनालय से सभी कलेक्टरों, जिला कार्यक्रम अधिकारियों और जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया गया है। पोषण अभियान के दौरान आयोजित गतिविधियों को जन आंदोलन डैश बोर्ड पोर्टल में अपलोड भी किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 16 मार्च से 31 मार्च तक पोषण पखवाड़ा का आयोजन प्रदेश में किया जा रहा है।

संचालनालय द्वारा निर्देशों के साथ दैनिक डिजिटल गतिविधियों का कैलेण्डर भी प्रेषित किया गया है। जिससे जिलों में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के साथ राष्ट्रीय पोषण पखवाड़ा के उद्देश्यों को पूरा किया जा सके।

पोषण पखवाड़ा के दौरान मास मीडिया के माध्यम से बच्चे के प्रथम एक हजार दिन, एनीमिया, डायरिया, स्वच्छता एवं हाथ धुलाई, पौष्टिक आहार संबंधी संदेश, नारे, जिंगल आदि के माध्यम से प्रचार-प्रसार अभियान चलाया जाएगा। मितानीन अपने अधीनस्थ सभी हितग्राहियों के घर गृह भेंट करेंगी। एएनएम द्वारा ऐसे घर जहां कुपोषित बच्चे हैं, नवजात शिशु या प्रसव की अंतिम तिमाही वाली गर्भवती महिलाएं हो गृह भेंट किया जाएगा।

प्रतिदिन की गतिविधियों फेसबुक, ट्वीटर, व्हाट्सएप के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया जाएगा। गतिविधियों के दौरान कोरोना संक्रमण संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए बैठक या यथासंभव डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से बैठकों को आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.