छत्तीसगढ़ में राशनकार्ड के आधार पर होगा टीकाकरण ,हितग्राहियों को मिलेगी मदद

रायपुर – छत्तीसगढ़ में 18 से 44 वर्ष के लोगों का टीकाकरण (वैक्सीनेशन) शनिवार से शुरू हो गया है। राज्य में टीकाकरण के लिए कोविन पोर्टल पर पंजीयन की बाध्यता नहीं रखी गई है। राशनकार्ड के साथ आधार या वोटर आइडी कार्ड जैसा कोई एक पहचान पत्र अनिवार्य किया गया है। इसके विपरीत केंद्र सरकार ने जो गाइड लाइन जारी की है, उसमें टीकाकरण के लिए आनलाइन पंजीयन जरूरी है, लेकिन राज्य में पोर्टल की पूरी कमान जिला प्रशासन को सौंपी गई है।

बता दें कि राज्य में टीकाकरण के लिए हितग्राहियों की आर्थिक स्थिति को आधार बनाया गया है। इसके तहत सरकार ने सबसे पहले अंत्योदय राशन कार्डधारियों के परिवार के पात्र लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया है। इसके बाद बीपीएल फिर सामान्य परिवारों को सरकारी टीका मिलेगी। अफसरों के अनुसार अंत्योदय राशनकार्डधारी के साथ ही समाज में बहुत बड़ा वर्ग ऐसा है जो इंटरनेट का उपयोग नहीं करता।

ऐसे में उनके लिए पंजीयन ऑनलाइन कराना कठिन हो जाएगा। इसे देखते हुए सरकार ने पंजीयन की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को सौंपा है। सूत्रों के अनुसार पंजीयन की कमान अपने हाथ में रखने का एक मक्सद यह भी है कि इससे सरकार अपने हिसाब से हितग्राहियों का टीकाकरण कर सकती है। कोविन पोर्टल की कमान पूरी तरह जिला प्रशासन के हाथों में है।

जिला प्रशासन सरकार की प्राथमिकता वाले हितग्राहियों का चयन कर उन्हें पोर्टल के टीकाकरण शेड्यूल में पहले शामिल करेगा। वहीं, पोर्टल में पंजीयन कराने वाले अन्य वर्ग के लोगों को फिलहाल टीकाकरण के शेड्यूल में शामिल ही नहीं किया जाएगा। ऐसे में इस वर्ग के लोगों को ऑनलाइन पंजीयन कराने के बाद भी इंतजार करना पड़ेगा।

सभी कलेक्टरों को स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश

स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु पिल्ले ने टीकाकरण को लेकर सभी कलेक्टरों को निर्देश जारी किया है। पिल्ले ने कहा है कि राज्य सरकार ने पहले अंत्योदय कार्ड वालों के टीकाकरण का फैसला किया है। इस वजह से कोविन पोर्टल में टीकाकरण के लिए इन्हीं हितग्राहियों का चयन किया जाए। आदेश में यह भी कहा गया है कि टीकाकरण का शेड्यूल इस तरह किया जाए कि अंत्योदय कार्ड में पंजीकृत 18-44 वर्ष के सभी नाम एक साथ आ जाएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.