विवाह होने में आ रही हैं अड़चनें तो जानिए अचूक उपाय

विवाह होने में अड़चन या रुकावट आने के कई कारण होते हैं। कई बार रिश्ता होते-होते ही रह जाता है और कई बार सगाई होने के बाद भी रिश्ता टूट जाता है। विवाह में देरी के कई कारण हो सकते हैं जिसमें से ग्रहदोष और वास्तुदोष भी हो सकता है। आओ जानते हैं कि कैसे इस अड़चन को दूर किया जा सकता है।

कुंडली में विवाह के योग की स्थिति- लड़के की कुंडली में विवाह के लिए जिम्मेदार ग्रह शुक्र और लड़की की कुंडली में जिम्मेदार ग्रह गुरु है। लड़के की कुंडली में शुक्र कमजोर है तो विवाह में अड़चने आएगी और लड़की की कुंडली में गुरु कमजोर है तो विवाह में अड़चने आएगी। दूसरा यदि सप्तम भाव एवं सप्तमेश, पंचम भाव एवं पंचमेश बिगड़ा हुआ है तो भी अड़चने आएगी। कुछ ज्योतिष द्वादश भाव एवं द्वादशेश, द्वितीय भाव एवं द्वितीयेश, अष्टम भाव एवं अष्टमेश भी देखते हैं। हालांकि विवाह में अड़चन का कारण वास्तुदोष या मंगलदोष भी हो सकता है।

मंगल दोष के उपाय

वास्तुदोष के उपाय

लड़की के लिए

लड़कों के लिए

Leave A Reply

Your email address will not be published.