बिलासपुर- छत्तीसगढ़ को पुरे देश में धान का कटोरा कहा जाता है।कई चीजों के लिए छत्तीसगढ़ पुरे देश में प्रसिद्द है।लेकिन पूरा प्रदेश का नाम डुबाने के लिए ये घोटालेबाज पीछे पड़े है।ऐसे ही एक बहुचर्चित नान घोटाला के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा।इस मामले के आरोपी IAS अनिल टुटेजा को हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई है।अनिल टुटेजा नॉन में प्रबंध संचालक रहें हैं।उन्हें उच्च न्यायलय द्वारा अग्रिम जमानत मिलने का यह मतलब हुआ कि-फिलहाल उनकी गिरफ्तारी नहीं होगी।

नान घोटाला मामले को लेकर उच्च न्यायलय में कई जनहित याचिका दाखिल

गौरतलब हो कि-छत्तीसगढ़ राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के रायपुर स्थित मुख्यालय समेत आसपास के जिलों में पदस्थ करीब डेढ़ दर्जन अधिकारियों और कर्मचारियों के दफ्तरों और आवास पर एसीबी और ईओडब्ल्यू ने 12 फरवरी 2015 को एक साथ छापेमारी की।इस दौरान कुल 3 करोड़ से ज्यादा नगद बरामद हुए था। करीब सभी अधिकारी-कर्मचारी से लाखों रुपए नगद,संपत्ति, एफडी,बीमा समेत अन्य दस्तावेज भी जब्त किए गए थे।

इस मामले में दो आईएएस अफसर समेत 18 अधिकारियों-कर्मचारियों पर मामला दर्ज किया गया था।इनमें से 15 के खिलाफ चार्जशीट पेश की गई। कई अधिकारी और कर्मचारी गिरफ्तार भी किए गए।

Read More- कैसे त्वचा को सुंदर,चमकदार और साफ बनाएं जानिए इस तरीका को

मामले में एफआईआर दर्ज करते हुए 27 लोगों को आरोपी बनाया गया था।जांच के बाद इसमें से 16 अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ चार्जशीट प्रस्तुत की गई।इस कार्रवाई के दौरान अनिल टुटेजा नान के एमडी थे।फिर अनिल टुटेजा के खिलाफ पूरक चालान प्रस्तुत किया गया।फिर उन्होने रायपुर के कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था,लेकिन इसे खारिज कर दिया गया।इसके बाद हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की गई थी।

Summary
0 %
User Rating 5 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

INC: इन 10 सबसे बड़े वजहों के कारण कांग्रेस को करना पड़ा हार सामना

रायपुर- देश में नई लोकसभा के लिए मतों की गिनती जारी है।अभी तक जो रुझान सामने आए हैं,वे इशा…