हीरो मोटोकॉर्प लाएगी इलेक्ट्रिक कार, दुनिया में दोपहिया वाहन की सबसे बड़ी निर्माता

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (ईवी) का बाजार काफी बड़ा हो रहा है। भारतीय बाजार में भी इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग बढ़ रही है। बाजार के इस बदलते हुए गणित को देखते हुए विभिन्न ऑटो निर्माता अपने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को लॉन्च कर रहे हैं या पेश करने की योजना बना रहे हैं। भारतीय बाजार में ईवी की मांग को देखते हुए अमेरिका की दो कंपनियां भारत में एंट्री कर चुकी हैं। जिसके बाद अब दुनिया में मोटरसाइकिलों और स्कूटरों के सबसे बड़े निर्माता और भारतीय कंपनी Hero MotoCorp (हीरो मोटोकॉर्प) भी घरेलू बाजार में इलेक्ट्रिक कार उतारने की तैयारी में है। रिपोर्ट के मुताबिक हीरो मोटो कॉर्प भारत के लिए एक नई इलेक्ट्रिक कार तैयार कर ही है। 

हाल ही में हीरो मोटोकॉर्प ने संचयी उत्पादन में 100 मिलियन (10 करोड़) यूनिट्स का आंकड़ा पार करने की महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। उत्तराखंड के हरिद्वार में स्थित कंपनी के प्लांट से 10 करोड़वी बाइक Xtreme 160R (एक्सट्रीम 160आर) को रोल-आउट किया गया। इस मौके पर हीरो मोटोकॉर्प के चेयरमैन और सीईओ डॉ. पवन मुंजाल ने दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के गुरूग्राम में स्थित कंपनी के प्लांट में ग्राहकों, डीलरों, वितरकों, निवेशकों, आपूर्तिकर्ताओं, कर्मचारियों, और मीडिया समेत एक वैश्विक दर्शकदीर्घा को संबोधित करते हुए अगले 5 वर्षों के लिये हीरो मोटोकॉर्प की योजनाओं और विजन के बारे में बताया। 
उन्होंने कहा, “हम अपनी वृद्धि की यात्रा जारी रखने वाले हैं। ‘परिवहन का भविष्य बनने’ के अपने लक्ष्य के अनुसार हम अगले पांच वर्षों में कई नई मोटरसाइकिलें और स्कूटर्स लॉन्च करेंगे, साथ ही अपना वैश्विक विस्तार भी करेंगे। हम शोध एवं विकास में निवेश भी जारी रखेंगे और परिवहन के नये समाधानों पर केंद्रित होंगे।”

मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में पवन मुंजाल ने इलेक्ट्रिक व्हीकल सेग्मेंट में प्रवेश करने का इशारा किया। उन्होनें कहा कि हीरो मोटोकॉर्प सिर्फ दोपहिया वाहनों के विनिर्माण तक ही सीमित नहीं रहेगी। हमने पहले ही तीन पहिया वाहन इलेक्ट्रिक कार कॉन्सेप्ट Quark1 को देखा है। इस कॉन्सेप्ट को कंपनी के इंटरनल स्टार्ट-अप हीरो हैच ने तैयार किया है। 

डॉ. पवन मुंजाल ने कहा, “यह महत्वपूर्ण उपलब्धि भारत में निहित क्षमताओं और हीरो की ब्राण्ड अपील की पुष्टि भी करती है। हम भारत में विश्व के लिए निर्माण करते हैं- और यह उपलब्धि विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों, जनसांख्यिकी और पीढ़ियों में हीरो के लिये ग्राहकों की चाहत दर्शाती है।”

गौरतलब है कि हीरो मोटोकॉर्प पहली ऐसी दोपहिया निर्माता कंपनी नहीं है जिसने चार पहिया वाहन निर्माण में उतरने की इच्छा जताई है। इससे पहले यामाहा के बारे में भी कहा गया है कि वो इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण कर सकते हैं। 

वर्तमान में हीरो मोटोकॉर्प के आठ विनिर्माण सुविधा (प्लांट) हैं। इनमें से 6 भारत में हैं और दो बांग्लादेश और कोलंबिया में स्थित हैं। भारत में कंपनी के प्लांट गुरुग्राम और हरियाणा के धरौहरा, उत्तराखंड के हरिद्वार, गुजरात के हालोल, राजस्थान के निमराना और आंध्र प्रदेश के चित्तूर में मौजूद हैं

Leave A Reply

Your email address will not be published.