mynews36.com

भिलाई-इंसानियत सबसे बड़ा मज़हब होता है।इस दुनिया में अगर हम किसी के काम आ जाएं,तो ये बड़ी बात होती है।ऐसी ही मिसाल राज्य के डीजी डीएम अवस्थी ने पेश की है।मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के बैगा आदिवासी केशव प्रसाद की पत्नी के ईलाज में खर्च अस्सी हजार रुपए की राशि को माफ कराकर और शव को भिलाई से शहडोल ले जाने की व्यवस्था कराकर उन्होंने पुलिस की संवेदना को ज़ाहिर किया है।आईजी-हिमांशु गुप्ता और एसपी-प्रखर पांडेय ने स्वयं हॉस्पिटल पहुंचकर केशव प्रसाद की मदद की।पुलिस विभाग राज्य के आन्तरिक सुरक्षा के साथ मानवीय संवेदनाओं का भी ख़्याल रखता है।इस बात को एक बार फिर छत्तीसगढ़ पुलिस के डीजी डीएम अवस्थी ने सहीं साबित किया।

काम करते वक़्त जल गई थी केशव की पत्नी

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के निवासी केशव प्रसाद की पत्नी गुड़िया बाई का ईलाज सेक्टर 9 हास्पिटल में चल रहा था।केशव की पत्नी घर मे काम करते वक्त जल गई थी और ईलाज के दौरान रविवार को मौत हो गई।केशव ने अपनी जमीन बेचकर साठ हजार रुपये अपनी पत्नी के ईलाज में खर्च किए लेकिन अंत में पत्नी की मौत ही गई।सेक्टर 9 अस्पताल में अस्सी हजार रुपये का बिल केशव को थमाया गया लेकिन केशव के पास इसके लिए पैसे नही थे।इसके कारण अस्पताल प्रबंधन ने परिजनों को शव देने से इनकार कर दिया।

मीडिया के माध्यम से डीजी तक पहुंची बात

केशव की यह बात मीडिया वालों को पता चली तो सभी अपने तरफ से प्रयास करने लगे और डीजीपी डीएम अवस्थी से केशव की मदद करने की बात की। डीजीपी डीएम अवस्थी ने तुरंत दुर्ग आईजी हिमांशु गुप्ता को मौके पर पहुँचकर पीड़ित परिजनों के मदद के निर्देश दिए। इसके बाद सेक्टर 9 अस्पताल प्रबंधन ने शव परिजनों को सौंप दिया।आईजी हिमांशु गुप्ता ने परिजनों के शव को शहडोल ले जाने वाहन की व्यवस्था भी कराई।

Summary
0 %
User Rating 5 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Big News: राजधानी में मां- बेटी की संदिग्ध मौत,जांच में जुटी पुलिस

रायपुर।राजधानी के सरस्वती नगर थाना क्षेत्र स्थित कुकुरबेड़ा इलाके में रविवार की दोपहर उस वक…