स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव बोले, को-वैक्सीन का ट्रायल पूरा होगा, तो सबसे पहले मैं लगवाऊंगा

रायपुर – छत्तीसगढ़ में को-वैक्सीन को लगवाने पर लगी रोक के बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि अगर को-वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो जाता है, तो सबसे पहले वह लगवाएंगे। सिंहदेव ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के एक एक आरोपों का जवाब दिया है।

सिंहदेव ने कहा कि रमन सिंह के शब्दों के चयन स्वयं ही केंद्र सरकार की भक्ति से सुशोभित है। अन्यथा अपने प्रदेश के लोगों के स्वास्थ्य के ऊपर केंद्र की त्रुटिपूर्ण नीतियों के बचाव में नहीं आते।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने सिंहदेव पर को-वैक्सीन को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया था।

वहीं, रमन ने कहा था कि राहुल गांधी को खुश करने के लिए सिंहदेव विरोध कर रहे हैं। सिंहदेव ने सवाल किया कि, क्या केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय या रमन सिंह यह बताने का कष्ट करेंगे कि को-वैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण का परिणाम अभी अपेक्षित है, उसका इस्तेमाल हम अपने प्रिय स्वास्थ्यकर्मियों पर होने दें।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों का नतीजा सारा देश देख रहा है, जिसके कारण परेशनियों और असंतोष के भाव प्रत्यक्ष हैं। अगर भक्ति को नज़रअंदाज़ कर रमन इसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखते तो मामले की गहराई दिखती। बाहरी देशों को निर्यात किए गए 64.7 लाख खुराक में से सिर्फ दो लाख को-वैक्सीन हैं, जिन्हें भारत सरकार ने इनकी गुणवत्ता को स्वयं परखने का सुझाव दिया है।

मगर देशवासियों के लिए इसे अनिवार्य किया जा रहा है जो केंद्र की संवेदनशीलता को शंका के दायरे में लाता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने स्वयं कहा था कि जब तक किसी भी टीके की पूर्णतः जांच नहीं हो जाती, उसे सक्रिय रूप से प्रयोग नहीं किया जाएगा। रमन केंद्र के दबाव से विचलित हुए बिना प्रदेश के लोगों की सुरक्षा को तवज्जों दें।

सिंहदेव ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि यदि भारत बायोटेक को-वैक्सीन के तीसरे चरण के जांच की सफलता प्रकशित कर देती है और प्रयोग की स्वीकृति प्राप्त कर लेती है तो मैं छत्तीसगढ़ में इसके प्रति जागरूकता और विश्वास बढ़ाने के लिए इसे सबसे पहले लेने को तैयार हूं।

सिंहदेव के समर्थन में उतरे थरूर

को-वैक्सीन के विवाद के बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर ने स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव के विरोध का समर्थन किया है। थरूर ने कहा कि मैं भी क्लिनिकल ट्रायल नहीं होने तक को-वैक्सीन लगाने के पक्ष में नहीं हूं। इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सामने आपत्ति भी दर्ज करा चुका हूं। मैं सिंहदेव के फैसले के साथ खड़ा हूं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.