छत्तीसगढ़ शासन के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा विकास की सेतु बांध बनाया जा रहा है

छत्तीसगढ़ की चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी के माध्यम से राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने चारों चिन्हारियों को बढ़ावा देने के लगातार प्रयास किया जा रहा है,गांवों में पशुधन के संरक्षण और संवर्धन के लिए गौठान का निर्माण किया जा रहा है, जिससे ग्रामीण आर्थिक आर्थिक रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सके,वही नवनिर्मित जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही के ग्राम पंचायत मालाडांड मे छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के महत्वकांक्षी गौठान योजनाओं के आदेश का उड़ रही है धज्जियां, मध्य प्रदेश सीमा से लगे हुए ग्राम पंचायत मालाडांड के अंतिम छोर के जगह पर जहा समस्त ग्रामवासी ,सरपंच और सचिव के पूर्ण सहमति से गौठान योजना हेतु शासकीय जमीन की खसरा नंबर 39/1 रकबा 2.932हे. को गौठान योजना हेतु स्वीकृति प्रदान किया गया था।

जिससे ग्राम पंचायत मालाडांड के आर्थिक रोजगार का अवसर प्रदान हो सके, लेकिन शासन के लाख प्रयासों के बावजूद भी गौठान योजना के तहत प्रस्तावित सरकारी जमीन भी अब सुरक्षित नहीं हो रहा खुलेआम अतिक्रमण, ज्ञात हो विगत दिनों ग्राम पंचायत मालाडांड के सरकारी जमीन पर कब्जा का दावा करने वाले मध्य प्रदेश के ग्राम चोलना निवासी दिनेश जयसवाल पिता रामचरण जयसवाल के द्वारा ग्राम पंचायत मालाडांड सरपंच सचिव और अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा उनकी फसल पर जानवर छोड़ने का आरोप लगाया जा रहा था, उन्होंने कहा कि यह सरकारी जमीन मेरे पिताजी के आयुर्वेदिक चिकित्सा के बदले परिश्रमिक के तौर पर यहां के 15 लोगों के द्वारा हमे प्रदान किया गया था, हमारा पूरा अधिकार है।

उसी क्रम में सरपंच सोनू सिंह ग्राम पंचायत मालाडांड का कहना है कि हम छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल महत्वकांक्षी योजनाओं के आदेशों का पालन कर रहे हैं जिससे हमारे गांव का आर्थिक रोजगार का अवसर मिल सके, अपनी ग्राम पंचायत के विकास करना मेरा कर्तव्य और अधिकार है मैं वही कर रहा हूं, सभी ग्रामवासी उक्त सरकारी जमीन पर जनहित कार्य के लिए मांग लगातार करते आ रहे है, जिसकी जानकारी दिनेश जायसवाल कई बार दिया जा चुका है, उनके नहीं मानने पर हमने तहसीलदार महोदय मरवाही, एसडीएम कार्यालय में भी अतिक्रमण की शिकायत की थी , पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई ,मानवता के नाम पर अज्ञात व्यक्तियों के जानवर छोड़ने पर जो भी नुकसान हुआ है हम से जो भी मदद होगा हम मदद कर देंगे,

वही सचिव गुलाब सिंह ग्राम पंचायत मालाडांड का कहना है, शासन के नियमानुसार हमें जो भी आदेश ऊपर से प्राप्त होते हैं उनकी प्रतिपूर्ति करना हमारी पूर्ण जिम्मेदारी है, ग्राम पंचायत मालाडांड मे गौठान हेतु स्थान सभी ग्रामवासी पंच सरपंच के स्वीकृति के पश्चात ही हुआ है।

पटवारी, एस.के बांधव, ग्राम पंचायत मालाडांड का कहना है: ग्राम पंचायत मालाडांड की खसरा नंबर 39/1रकबा 2.932 पूर्णता सरकारी जमीन है, हमारे राजस्व दस्तावेजों के रिकॉर्ड पर उक्त खसरा नंबर सरकारी जमीन दर्ज है, किसी के दावा करने से यह जमीन उसकी नहीं हो जाती है,

बहरहाल अब देखना यह होगा कि छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नरवा गरवा घुरवा योजना अंतर्गत गौठान हेतु आरक्षित सरकारी जमीन के अतिक्रमण पर शासन प्रशासन के द्वारा क्या कार्रवाई की जाती है या गौठान की महत्वकांक्षी योजना से ग्रामीण आर्थिक रोजगार के अवसर सिर्फ सपना बनकर रह जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Director & CEO - MANISH KUMAR SAHU , Mobile Number- 9111780001, Chief Editor- PARAMJEET SINGH NETAM, Mobile Number- 7415873787, Office Address- Chopra Colony, Mahaveer Nagar Raipur (C.G)PIN Code- 492001, Email- wmynews36@gmail.com & manishsahunews36@gmail.com