सुकमा- छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों को 695 कारतूस की सप्लाई करने के मामले में सोमवार को ASI समेत दो पुलिसकर्मी गिरफ्तार किए गए हैं।पहले ही गिरफ्तार चार लोगों से पूछताछ में सामने आया कि नक्सलियों को गोलियों की सप्लाई पुलिस शस्त्रागार से की गई थी।इनका प्रयोग इंसास और एके-47 राइफलों में होता है।

सुकमा के एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि प्राथमिक जांच में पुलिस लाइन शस्त्रागार से कुछ कारतूस गायब भी मिले हैं। इसके आधार पर वहां तैनात एएसआइ आनंद जाटव और प्रधान आरक्षक सुभाष सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस टीम दोनों से पूछताछ कर रही है।

सुभाष की ड्यूटी आर्मोरर शस्त्रागार के रूप में थी।4 जून को तड़के सुकमा पुलिस ने धमतरी निवासी मनोज शर्मा और गुंडरदेही निवासी हरिशंकर को संदेह के आधार पर जिला मुख्यालय के मलकानगिरी चौक से पकड़ा था।

इनसे मिली जानकारी के आधार पर पांच जून को कांकेर जिले के दुर्गूकोंदल से दो अन्य नक्सल सहयोगियों आत्माराम नरेटी और गणेश कुंजाम को पकड़ा गया था। मनोज और हरिशंकर को कारतूस की डिलीवरी के लिए कांकेर से सुकमा भेजा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.