दिग्गज सर्च इंजन कंपनी गूगल (Google) ने एक बार फिर से बड़ी कार्रवाई करते हुए 11 मोबाइल एप को प्ले-स्टोर से हटा दिया है। हैकर्स इन मोबाइल एप में जोकर नामक मैलवेयर का इस्तेमाल करके लोगों को अपना निशाना बना रहे थे। इसके अलावा हैकर्स यूजर्स की अनुमति के बिना ही उन्हें प्रीमियम सेवाएं सब्सक्राइब करा देते थे। आपको बता दें कि इन मैलिशियस मोबाइल एप की जानकारी चेक प्वाइंट की रिपोर्ट से मिली है।

चेक प्वाइंट की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 से गूगल इन वायरस वाले एप पर नजर बनाए हुए था। हैकर्स इन मोबाइल एप के जरिए यूजर्स को चूना लगाने के साथ-साथ निजी डाटा भी चुरा रहे थे। हालांकि, अब कंपनी ने इन मोबाइल एप को अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है। इससे पहले कंपनी ने प्ले-स्टोर से 25 मोबाइल एप हटाए थे, जो फेसबुक यूजर्स का डाटा चुरा रहे थे।

इन मोबाइल एप को तुरंत अपने फोन से हटाएं

com.imagecompress.android, com.contact.withme.texts, com.hmvoice.friendsms, com.relax.relaxation.androidsms, com.cheery.message.sendsms(दो अलग-अलग रूप), com.peason.lovinglovemessage, com.file.recovefiles, com.LPlocker.lockapps, com.remindme.alram, com.training.memorygame।

ऐसे करें अपने डिवाइस की सुरक्षा

  • अगर आपको लगता है कि आपके स्मार्टफोन में मैलिशियस मोबाइल एप डाउनलोड हो गया है, तो तुरंत उसे डिलीट करें।
  • अपने स्मार्टफोन में विश्वसनीय एंटी-वायरस और सिक्योरिटी एप का इस्तेमाल करें। 
  • अंजान मोबाइल एप को डाउनलोड न करें।

गूगल ने 25 एप को अपने प्लेटफॉर्म से हटाया

गूगल ने इस महीने की शुरुआत में  25 मोबाइल एप्स को प्ले-स्टोर से हटाया था। कंपनी ने यह कार्रवाई डाटा चोरी को लेकर की थी। ये सभी फेसबुक यूजर्स का डाटा चोरी कर रहे थे। गूगल को इन एप्स के बारे में फ्रांस की साइबर सिक्योरिटी फर्म Evina ने दी थी। इन एप्स के बारे में Evina ने अपने एक ब्लॉग में जानकारी दी थी। इनमें से अधिकतर एप्स वीडियो एडिटिंग, फ्लैश लाइट और वॉलपेपर से संबंधित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *