मोबाइल से लेकर चार्जर और सोलर लैंप तक होंगे महंगे, देखें पूरी लिस्ट

आम बजट 2021 में सरकार ने मोबाइल फोन के पुर्जों और चार्जर के साथ कई इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर आयात शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। घरेलू प्रोडक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। सरकार के इस फैसले से मोबाइल फोन के साथ चार्जर, केबल जैसे कई गैजेट और इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट महंगे होंगे। प्रभावी दरें 1 अप्रैल 2021 से लागू होंगी। आइए जानते हैं कौन-कौन से इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर आयात शुल्क कितना बढ़ाया गया है।

सरकार ने बजट 2021 में जिन इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर आयात शुल्क बढ़ाया है उनमें पहला नाम तार का (सभी तरह के तार, केबल) का है। इस पर आयात शुल्क फिलहाल 7.5 फीसदी है जिसे 10 फीसदी कर दिया गया है।

सेलुलर मोबाइल फोन के सर्किट, फोन के कैमरे के लिए इस्तेमाल होने वाला पार्ट्स, फोन के कनेक्टर्स, फोन के बैक कवर, साइड बटन, चार्जर, एडाप्टर पर फिलहाल आयात शुल्क नहीं लगता है लेकिन अब इसे 2.5 फीसदी से 10 फीसदी तक कर दिया गया है।

फोन की सर्किट, कैमरा सेटअप, चार्जिंग पोर्ट पर आयात शुल्क 2.5 फीसदी और चार्जर, चार्जर के पार्ट्स पर 15 फीसदी लगेगा। बैटरी की बात करें तो इस पर फिलहाल कोई आयात शुल्क नहीं लगता है लेकिन अब लिथियम आयन बैटरी या बैटरी के पैक के इनपुट या कच्चे लिथियम आयन प्रोडक्ट पर 2.5 फीसदी का आयात शुल्क लगेगा।

एलईडी लैंप और लैंप के सर्किट पर पर फिलहाल 5 फीसदी का आयात शुल्क है जो कि अप्रैल से 10 फीसदी हो जाएगा। सोलर लालटेन पर लगने वाले आयात शुल्क को 5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया गया है, वहीं सोलर इंवर्टर पर यह शुल्क 5 से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दिया गया है। इलेक्ट्रॉनिक खिलौने और उनके पार्ट्स पर भी आयात शुल्क को 5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.