स्कूलों में निःशुल्क पाठ्य पुस्तक एवं गणवेश वितरण प्रारंभ

School Student

राज्य के सभी शासकीय एवं अनुदान प्राप्त स्कूलों में निःशुल्क पाठ्य पुस्तक वितरण शुरू कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग से जुड़े सभी अधिकारियों को पाठ्य पुस्तकों का वितरण कर उसकी जानकारी पोर्टल में दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। शासकीय स्कूलों में कक्षा पहली से 8वीं तक के विद्यार्थियों को गणवेश वितरण के लिए भी अधिकारियों को कहा गया है।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम के डिपों द्वारा प्रदेश में संचालित सभी 171 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में कक्षा पहली से 10वीं तक सभी विद्यार्थियों के लिए निर्धारित पाठ्यपुस्तके पहुंचाई जा चुकी हैं। इसी तरह अन्य सभी 4698 हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों हिन्दी माध्यम में कक्षा 9वीं, 10वीं की पुस्तकें भी पहुंचाई जा चुकी हैं। संकुलों में भी पुस्तक पहुंचा दी गई हैं।

पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा सभी शासकीय अनुदान प्राप्त शालाओं में कक्षा पहली से 8वीं तक के लिए पाठ्य पुस्तकें 9 जिलों सरगुजा, जांजगीर-चांपा, मुंगेली, सुकमा, धमतरी, गरियाबंद और बालोद द्वारा पुराने संकुल संख्या अनुसार और शेष 21 जिलों द्वारा नए संकुल संख्या अनुसार सभी अधीनस्थ स्कूलों का मैपिंग करते हुए मांग अनुरूप कुल 3202 में से 707 संकुलों तक पाठ्य पुस्तकें पहुंचाई जा चुकी हैं। शेष सभी संकुलों तक पाठ्य पुस्तकें 15 जुलाई तक पहुंचाने के लिए दु्रत गति से कार्य किया जा रहा है। पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा शीघ्र ही सीधे अशासकीय शालाओं में पाठ्य पुस्तक वितरण कराने के लिए रणनीति बनाकर कार्रवाई सुनिश्चित कराई जा रही है।

इसी तरह छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ द्वारा 13 जिलों धमतरी, सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, कांकेर, कोण्डागांव, जगदलपुर, सरगुजा, बलरामपुर और राजनांदगांव के संकुलों तक शत-प्रतिशत गणवेश पहुंचाया जा चुका है। दो जिले रायपुर और सूरजपुर में गणवेश पहुंचाने का कार्य प्रक्रियाधीन है। हाथकरघा संघ द्वारा शेष सभी जिलों में निर्देशानुसार शीघ्र गणवेश पहुंचाने हेतु कार्रवाई की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के माध्यम से शिक्षा सत्र 2021-22 में शासकीय, अनुदान प्राप्त शाला, मदरसों और गैर अनुदान प्राप्त शासकीय शालाओं के कक्षा पहली से 10वीं तक के लगभग 55 लाख 86 हजार 866 विद्यार्थियों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तक वितरण करने का लक्ष्य है। पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा मुद्रित पाठ्य पुस्तकें विगत वर्ष की भांति ही शिक्षा सत्र 2021-22 में शासकीय और अनुदान प्राप्त शालाओं के कक्षा पहली से 8वीं तक के विद्यार्थियों को संकुल स्तर तक पहुंचायी जाएंगी। यहां से संकुल प्रभारियों द्वारा संबंधित शालाओं के प्रधान पाठक, शिक्षकों के माध्यम से वितरित की जाएगी।

शिक्षा सत्र 2021-22 में कक्षा पहली से 8वीं तक हिन्दी माध्यम की शासकीय शाला के 32 लाख 41 हजार 167 विद्यार्थियों, कक्षा 9वीं और 10वीं हिन्दी माध्यम शासकीय शाला के 8 लाख 53 हजार 975 विद्यार्थियों, कक्षा पहली से 10वीं तक हिन्दी माध्यम की अनुदान प्राप्त शाला के 78 हजार 827 विद्यार्थियों, कक्षा पहली से 8वीं तक हिन्दी माध्यम की अशासकीय शाला के 6 लाख 34 हजार 8 विद्यार्थियों, कक्षा पहली से 8वीं तक अंग्रेजी माध्यम के अशासकीय शाला के 3 लाख 42 हजार 329 विद्यार्थियों, कक्षा 9वीं और 10वीं हिन्दी माध्यम अशासकीय शाला के एक लाख 23 हजार 409 विद्यार्थियों, कक्षा 9वीं और 10वीं अंग्रेजी माध्यम अशासकीय शाला के 44 हजार 673 विद्यार्थियों और कक्षा पहली से 10वीं तक अंग्रेजी माध्यम के स्वामी आत्मानंद स्कूलों के 68 हजार 400 अनुमानित विद्यार्थियों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकों का सेट उपलब्ध कराने का लक्ष्य है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.