Fedration

Federation: स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की तरह 50 लाख का बीमा प्रावधान जरुरी

Federation

डोंगरगढ़ MyNews36 – छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन (Federation) का कहना है कि वैश्विक महामारी कोविड 19 के रोकथाम एवं नियंत्रण में हम शासन प्रशासन के साथ है,लेकिन शासन प्रशासन को भी चाहिए कि कर्मचारियों के साथ ही उनके परिवार के हितों की भी रक्षा हो सके।कर्मचारी चाहे वह किसी भी विभाग का हो उनकी उचित सुरक्षा जरुरी है।उच्च क्वालिटी का मास्क, हेण्ड ग्लोब्स एवं सेनेटाईजर के साथ ही ड्यूटीरत स्थल में छांव हेतु पाल, स्वच्छ पेयजल, उस स्थल की साफ सफाई, सेनेटाईजरिंग अत्यावश्यक है ताकि ड्यूटीरत कर्मचारियों की सेहत पर विपरीत असर न पड़े।बागनदी की ही तरह लाल बहादुर नगर, बोरतलाब एव डोंगरगढ़ चेक पोस्ट में भी सही संसाधन उपलब्ध कराने की मांग की है ताकि इस भीषण गर्मी में कर्मचारियों को परेशानियों से दो चार न होना पड़े।छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन (Federation) ने मांग की है कि- कोई भी विभाग के कर्मचारी हो उनकी कोरोना से जंग में लगी हो तो स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की तरह निधन हो जाने पर 50 लाख की बीमा का प्रावधान एवं पीड़त परिवार को तत्काल अनुकम्पा नियुक्ति देने की मांग की है।

फेडरेशन (Federation) के पदाधिकारियों जिलाध्यक्ष शंकर साहू, ब्लाक अध्यक्ष हीरा लाल मौर्य, संयोजक ओम प्रकाश साहू, सचिव चंद्रशेखर विजयवार, उपाध्यक्ष राजेश देवांगन एवं पुनीत राम साहू, कोषाध्यक्ष इन्द्रजीत मंडलोई, प्रवक्ता अमृत दास साहू, सह प्रवक्ता अमिताभ दुफारे, सहसचिव देवेन्द्र कुमार खोब्रागड़े, मीडिया प्रभारी ललित प्रताप सिंह, सह मीडिया प्रभारी रितु राज साहू, संगठन सचिव बंदीश नेम पाण्डे, जिला कार्यकारिणी सदस्य दशरथ मंडावी, नीरज सिंह राजपूत, हिलेश्वर वर्मा, अमीन कुरैशी, कनक साहू, तिलेश्वर वर्मा, सम्पत राम वर्मा, उमेश देशलहरा, हरिचंद वर्मा, दिलीप सिन्हा, चेतन सिन्हा, टी. आर. साहू, के. के. दुबे, नंद कुमार साहू, कुलदीप राजेनकर, भुनेश्वर कतलाम, संजय वर्मा ने चेक पोस्ट में कर्मचारियों की बारी बारी से ड्यूटी लगाने की मांग की है ताकि भीषण गर्मी में उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर न पड़े।किसी भी कर्मचारी की ड्यूटी लगातार सात दिन से ऊपर न लगाया जा।

तीन पालियों में जो ड्यूटी लगाई गई है उनके शिफ्ट में क्रमश : चेन्जेस कर के लगाया जाए ताकि खास कर रात्रिकालीन ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों को नींद की समस्या से निजात मिल सकें। साथ ही शिक्षकों की ड्यूटी भी इस तरह से सामंजस्य बिठा कर लगाया जाए जैसे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने अपनी कर्मचारियों ने लगाई है। स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मचारियों को सप्ताह में एक या बमुश्किल से दो दिन ड्यूटी करवाई जा रही है जो कि बहुत ही उचित है. लेकिन जिस तरह से शिक्षा विभाग में पर्याप्त कर्मचारियों की संख्या होने के बावजूद भी जिस तरह से कुछ ही लोगों से लगातार काम लिया जा रहा है यह कई प्रश्नवाचक चिन्ह छोड़ जाते है। 1 मई से से जिनकी ड्यूटी लगाई गई थी उनको लगातार 17 दिन ड्यूटी करवाई गई।

इससे विशेष कर रात्रिकालीन ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों को खासा दिक्कत का सामना करना पड़ा. फेडरेशन ने मांग की है कि शिक्षा विभाग में भी कर्मचारियों की ड्यूटी अच्छा से सामंजस्य बिठा कर लगाया जाए ताकि भीषण ग्रीष्म मौसम में ड्यूटीरत कर्मचारियों को शारीरिक एवं परेशानियों से न गुजरना पड़े.इस बीच संकुल समन्वयक एवं अफसर के चहेते कर्मचारियोंक की आज तक ड्यूटी नहीं लग पाई और घर में आराम फरमा रहे हैं और कुछ लोग ही इस भीषण गर्मी में पिस रहे हैं. छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन ने अब ऐसे कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने की मांग की है जिनकी न तो क्वाराईन्टान सेंटर न राशन दुकानों, बैंको, न एटीएम केन्द्रों में ही लगाई गई है। फेडररेशन ने डोंगरगढ़ ब्लाक से 2 दल की जगह 4 दल गठित करने की मांग की है । साथ ही पहले 16 दिन और 10 दिन लगातार ड्यूटी कर चुके कर्मचारियों को आराम देकर नए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने की मांग को दोहराया है ताकि नवतपा के इस दौर में लगातार काम कर रहे कर्मचारियों को शारीरिक एवं मानसिक परेशानियों से न गुजरना पड़े।फेडरेशन ने इस ओर उच्चाधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराया है।

MyNews36 App डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.