Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Exclusive:झोलाछाप डॉक्टर के लापरवाही से दो मरीज की हालत गंभीर,स्वास्थ्य विभाग मौन

स्वास्थ्य विभाग में पीडित की लिखित शिकायत के माह भर बाद भी अब तक कोई कर्यवाही नही

Exclusive

राजनांदगांव- Exclusive: घुमका समेत पूरे क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टरों का कारोबार फिर से फैल गया है और झोलाछाप डॉक्टर ग्रामीण मरीजों को मौत के मुंह में ढकेल रहे हैं।लगातार इन अवैध क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप डॉक्टरों की करतूतों से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमका समेत जिले के चिकित्सा विभाग के आला अधिकारी और तमाम प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायतें भी पहुंच रही है।परंतु कार्यवाही के अभाव में झोलाछाप डॉक्टरों का कारोबार चरम सीमा में हैं और भोले-भाले ग्रामीण बुरी तरह परेशानी में फंस रहे हैं इसी तरह का एक ताजा मामला घुमका से 9 किलोमीटर दूर मासुल एवं बहरा भाटा का सामने आया है।जहां कथित झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से 13 वर्ष की बच्ची और 25 वर्षीय महिला गंभीर रूप से जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं गरीब ग्रामीण परिवार लाखों रुपए खर्च कर भी अपनी बच्ची और उस महिला को ठीक नहीं करवा पा रहे हैं।Exclusive

प्राप्त जानकारी एवं शिकायत के अनुसार ग्राम मासुल निवासी धन साय कोसरे की 13 वर्षीय बच्ची को बुखार की शिकायत पर उक्त झोलाछाप डॉक्टर ने जून महीने में इंजेक्शन लगाया बच्ची की हालत बिगड़ने लगी। बिगड़ती हालत देखकर पुनः उक्त डॉक्टर ने फिर 2 इंजेक्शन लगा दिया जिसके बाद उस बच्ची की हालत बुरी तरह खराब हो गई और कमर से लेकर पैर तक भारी सूजन हो गया परेशान हाल परिजन बच्ची को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमका लाए जहां बच्ची की गंभीर स्थिति को देखते हुए तत्काल मेडिकल कॉलेज अस्पताल राजनंदगांव रवाना किया गया।

जहां बच्ची के पैर से भारी मात्रा में मवाद निकाला गया इसके बाद भी लगभग 26 दिनों तक मेडिकल कॉलेज में भर्ती रही बच्ची को अब तक स्वास्थ्य लाभ नहीं मिल पा रहा है और वर्तमान में बच्ची चलना फिरना तो बहुत दूर खुद से होकर उठ बैठ भी नहीं पा रही है स्कूली छात्रा की पढ़ाई भी इन कारणों से पूरी तरह चौपट हो गई है वर्तमान स्थिति में भी बच्ची ठीक हो पाएगी इस तरह की संभावना कम ही दिखाई दे रही है परिजनों ने इस बात की शिकायत घुमका थाना के अलावा स्वास्थ्य विभाग को भी किया है परंतु अभी तक किसी भी तरह की कार्रवाई की सूचना नहीं मिली है उक्त झोलाछाप डॉक्टर से परिजनों ने संपर्क कर शिकायत किया तब झोलाछाप डॉक्टर ने परिजनों को कहीं भी शिकायत करने की धमकी तक दे दी।

इन सब के बावजूद भी स्वास्थ्य विभाग अभी तक मामले को जानकर भी अनजान बना हुआ है इसी तरह मासुल से लगा ग्राम बहरा भाटा में एक 25 वर्षीय महिला चित्रलेखा पति वीरेंद्र को सरे को हाथ पैर दर्द एवं बुखार की शिकायत पर उक्त झोलाछाप डॉक्टर भारत लाल टंडन एक इंजेक्शन लगाया इंजेक्शन लगाते उक्त महिला गश खाकर गिर पड़ी उसके बाद लगातार उस महिला की भी हालत बिगड़ती गई और कमर में जहां इंजेक्शन लगाया गया था वहां बड़ा गहरा जख्म और सूजन होना प्रारंभ हो गया धीरे-धीरे उक्त सूजन बड़े घाव के रुप में बदल गया यहां भी परेशान हाल परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमका पहुंचे और भटकते भटकते आखिर में छुई खदान के एक सर्जन के पास उक्त घाव का इलाज करवाया गया लगभग डेढ़ महीने से उक्त महिला अभी तक बिस्तर में पड़ी हुई है और इस परिवार को भी लाखों रुपए का खर्च बेवजह उठाना पड़ा उसके बाद भी स्वास्थ्य अभी तक ठीक नहीं हो पाया है।परेशान हाल परिजनों ने इकट्ठे उक्त झोलाछाप डॉक्टर को इस बात की शिकायत किया परंतु उपउक्त झोलाछाप डॉक्टर भारत लाल टंडन किसी भी तरह से सहयोग करने और इलाज करवाने के मामले में हाथ खड़ा करते हुए मदद से इनकार कर दिया कथा कहीं भी शिकायत कर लेने की धमकी तक दे दिया।

शिकायतकर्ताओं के अनुसार घुमका पुलिस एवं एसपी राजनांदगांव को भी इस मामले की शिकायत की गई है वहीं एक प्रति खंड चिकित्सा अधिकारी के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भी भेजी गई है परंतु अभी तक पुलिस की ओर से भी कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है दुर्भाग्य जनक पहलू यह है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं खंड चिकित्सा अधिकारी को फरियाद करने के बाद भी ना ही उक्त अवैध चिकित्सक के खिलाफ कोई कार्यवाही हो पाई है और ना ही प्रकरण की जांच शुरू की गई है।जिससे जाहिर होता है कि-पूरे क्षेत्र में खुलेआम झोलाछाप डॉक्टरों की दुकानदारी चिकित्सा विभाग के शह पर चलती दिख रही है यहां तक सूत्रों के अनुसार- सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमका से महज 50 मीटर दूर पर खुलेआम झोलाछाप डॉक्टरों की दुकानदारी चल रही है और क्षेत्र के कई गांव में इस तरह के अवैध क्लिनिक डिस्पेंसरी एवं झोलाछाप डॉक्टरों की दुकानदारी ग्रामीण मरीजों की जान लेने पर तुले हुए हैं शिकायत कर्ताओं के अनुसार उक्त झोलाछाप डॉक्टर लंबे समय से ग्राम मासुल में अपनी दुकानदारी चला रहा है और आसपास के गांव के गरीब भोले-भाले लोगों से इलाज के नाम पर मनमानी पैसा वसूल कर रहा है आरोप में यह भी बताया गया है कि- उक्त कथित झोलाछाप चिकित्सक एक ही इंजेक्शन के सिरिंज निडिल से कई लोगों को इंजेक्शन लगा रहा है जिसके चलते एचआईवी जैसे गंभीर बीमारी के फैलने का खतरा बना हुआ है घुमका सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एचआईवी पीड़ित मरीजों के सूची एवं सर्वे रिपोर्ट को खंगालना इस बाबत आवश्यक प्रतीत होता है।

मामला गंभीर है मैं तुरंत बी एम ओ को निर्देशित करता हु की उक्त झोलाछाप डॉक्टर के ऊपर कड़ी कार्यवाही करे-मिथलेश चौधरी,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राजनांदगांव

मुझे सीएमओ का इस सम्बंध में कार्यवाही हेतु निर्देश मिला है परंतू मेरे पास कार्यवाही करने के लिए पूरी टीम नही है तथा मौके पर पुलिस बल भी उपलब्ध नही हो पाया उक्त शिकायत कर्ताओ ने सीएमओ को अपना शिकायत पत्र सौपा है-विजय कुमार खोब्रागड़े, बीएमओ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र,घुमका

हमारे इस mynews36 पोर्टल में प्रतिदिन नए-नए सरकारी व प्राइवेट नौकरी की जानकारी प्रदान की जाती है।अगर आप भी इंट्रेस्टेड है तो गूगल प्लेस्टोर पर जाकर अभीmynews36 App डाउनलोड कर सकते है साथ ही हमारे WhatsApp Group व फेसबुक पेज में भी जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते।अगर आपको यह खबर अच्छा लगा तो इस खबर को आगे शेयर करें,कोई इस खबर से वंचित न हो ताकि हमारे देश में बेरोजगारी तेजी से मिट सके,सबको अच्छा रोजगार मिले,ताकि हमारा कल का भविष्य उज्जवल हो,आपके एक शेयर से लोगों की भविष्य बन सकती है इससे बड़ी सौभाग्य आपके लिए क्या हो सकता है,आप भी लोगों की मदद करें,आपके भी मदद करने वाले हज़ार खड़े है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.