युवाओं को उच्च शिक्षा के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने का प्रयास,नियुक्तियों के द्वार खुले – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री ने अहिवारा क्षेत्र के ग्राम बानबरद में लगभग 4.83 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित शासकीय नागरिक कल्याण महाविद्यालय भवन का किया लोकार्पण

रायपुर – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रदेश के युवाओं को उच्च शिक्षा के बेहतर से बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा की बेहतरीन अधोसरंचनाएं तैयार की जा रही हैं। जहां जरूरत है वहां पर नये महाविद्यालय आरंभ किये गए हैं और यहां सुविधाओं में भी काफी इजाफा हुआ है। युवाओं के लिए रोजगार के द्वार भी सरकार ने खोले हैं। अभी विद्युत कंपनी, असिस्टेंट प्रोफेसर, पटवारी, पुलिस आदि की नियुक्ति की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में गोधन न्याय योजना, सुराजी ग्राम योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना से अतिरिक्त आय का द्वार खुला है।

मुख्यमंत्री बघेल ने यह बात दुर्ग जिले के अहिवारा क्षेत्र के बानबरद गांव में शासकीय नागरिक कल्याण महाविद्यालय के लोकार्पण के अवसर पर कही। वर्ष 1985 से प्रारंभ हुए इस महाविद्यालय के लिए नया भवन 4 करोड़ 83 लाख रुपए की लागत से तैयार किया गया है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर एक करोड़ 30 लाख रूपए की लागत से निर्मित सर्किट हाउस का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में 10 लाख क्विंटल वर्मी कंपोस्ट का उत्पादन हुआ है। किसानों को वर्मी कम्पोस्ट का वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से किया जा रहा है। बड़ी संख्या में किसान वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करने लगे हैं। प्रदेश में जैविक खेती का रास्ता खुला है और धीरे-धीरे प्रदेश की पहचान इस ओर बनेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के साथ सभी वर्गों के विकास के लिए कार्य कर रही है। कर्जमाफी के निर्णय से किसानों को बड़ी राहत मिली है।

वन मंत्री एवं दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आम जनता के बुनियादी महत्व के सभी विषयों पर राहत पहुंचाने का प्रयास किया है। सरकार ने सभी वर्गों के विकास की चिंता की है। उन्होंने कहा कि चाहे कर्ज माफी हो या सबको राशन देने की बात हो, शासन की योजनाएं सबके दिल को छू लेने वाली हैं। इस अवसर पर पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल ने अहिवारा को पूर्ण तहसील का दर्जा दिलाया। नंदिनी-जामुल रोड का भूमिपूजन हुआ। इस सड़क का कार्य 15 अक्टूबर के बाद प्रारंभ होगा।

उन्होंने कहा कि सबको बुनियादी सुविधाएं देने के लिए सरकार संकल्पित है। उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने इस अवसर पर कहा कि शासन द्वारा राज्य में गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा के लिए तेजी से कार्य किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में नागरिक आवश्यकताओं के मुताबिक नये कालेज आरंभ किये गये हैं। इस मौके पर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने प्रतिवेदन पढ़ा और अहिवारा में हो रहे विकास कार्यों की जानकारी दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.