पखांजुर।छत्तीसगढ़ राज्य के स्टेट हाइवे नॉ 25 में दुर्गकोंदल से इरपेनर तक सड़क चौड़ी करण में 1.50 अरब रुपए की लागत से निर्माण कार्य किया जा गया,उक्त सड़क निर्माण ऐजेंसी पुणे के पाटिल कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा निर्माण कार्य किया गया है, जिसमे दुर्गकोंदल से कोंडे तक का सड़क भानुप्रतापपुर पी डब्लू डी संभाग के अंतर्गत आता है और कोंडे से इरपेनर पिव्ही नॉ.109 तक सड़क पखांजूर पी डब्लू डि संभाग में आता है सड़क डामरीकरण से पहले सड़क में गड्ढे को गिट्टी और डामर के मिश्रण से भरके सड़क को लेबलिकरण किया जाता हैं इस प्रक्रिया को सर्फेस ड्रेसिंग कहा जाता हैं उक्त सड़क में सर्फेस ड्रेसिंग ना करके डामरीकरण कर दिया गया और सर्फेस ड्रेसिंग के नाम पर पाटिल कंस्ट्रक्शन कंपनी एवं पी डब्लू डि के अधिकारियों ने फर्जी बिल बना कर 1,71,51,806 करोड़ रुपए का बंदरबांट करलिया।

जबकि इस सड़क में कभी सर्फेस ड्रेसिंग का काम हुआ ही नही।एल डब्लू ई के बिसवे बिल में सर्फेस ड्रेसिंग के नाम पर 1,71,51,806 रुपए निकाला गया है।वर्ष 2015 में सर्फेस ड्रेसिंग का मामला अखबारों के सुर्खियों में कई बार रहा,मामले की जानकारी लिखित रूप से देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी,माननीय मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ डॉ.रमन सिंह,मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन एवं माननीय राजेश मूणत मंत्री लोक निर्माण विभाग छत्तीसगढ़ शासन को दिया गया मगर अब 2018 से 2019 तक कोई कार्यवाही नहीं की गई, छत्तीसगढ़ बीजेपी के सरकार अबतक जांच कराने मे असफल रही।सवाल कई हैं क्या छत्तीसगढ़ राज्य सरकार अपने पी डब्लू डि विभाग के अधिकारियों को बचाने के चलते जाच नहीं करवा रहे हैं या मामला करोड़ों का है तो साठ गांठ के चलते मामले का जाच नही करवाया गया,अब तक जांच ना होते देख कर युवा कांग्रेस अंतागढ़ विधानसभा के कार्यकर्ताओं ने पिछले 8 फरवरी 2018 को पखांजूर एस डी एम के हाथों राज्यपाल को ज्ञापन भी सौंपा गया है जिसपर लिखा गया था कि 10 दिनों के भीतर जांच न होने पर युवा कांग्रेस उग्र आंदोलन करेंगे,मगर 8 फरवरी 2018 से अबतक साल बीत जाने के बाद भी न जांच हुआ और न युवा कांग्रेसीओ ने कोई आंदोलन की।आखिरकार ये सर्फेस ड्रेसिंग का फर्जी बिलिंग में निकला गया पौने दो करोड़ रुपए का जांच क्यों नही हो रहा है।क्या युवा कांग्रेस भी मामले में लीपापोती कर रहे हैं ये लोगों मे सवाल बन कर रह गया?अगर नही तो कही गई उग्र आंदोलन क्यों नही हुआ हुआ लोगो का कहना है,अब देखने बाली बात ये हैं कि भाजपा के कार्यकाल में करोड़ो के भ्रष्टाचार पर कोई कार्यवाही नही हुई अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है अब छत्तीसगढ़ राज्य सरकार पौने दो करोड़ रुपए का फर्जी सर्फेस ड्रेसिंग का मामले की जांच किस प्रकार करती है ये लोगो मे जिज्ञासा बनी हुई है।

Summary
0 %
User Rating 4.65 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In एक्सक्लूसिव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Crime: राजधानी में मोटरसाइकिल चोरी करने वाला आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

रायपुर-गुढ़ियारी थाना क्षेत्रांतर्गत गोकुल नगर के प्रार्थी ने रिपोर्ट दर्ज कराया था कि एक्ट…