कोई भी व्यक्ति मास्क के बिना बाहर ना निकले इसके लिए वृहद अभियान

कोण्डागांव MyNews36 प्रतिनिधि- कोण्डागांव जिले के प्रभारी सचिव के रूप में नियुक्ति के उपरांत अपने पहले प्रवास पर डॉ प्रियंका शुक्ला कोण्डागांव पहुंची एवं कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में सभी विभागों की समीक्षा बैठक ली। इस बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य प्राथमिकता देते हुए जिले के स्वास्थ्य कार्यक्रमों की प्रगति पर चर्चा की। कोरोना काल के दौरान कोविड-19 बीमारी के प्रसार को रोकने में सम्पूर्ण जिला प्रशासन के द्वारा किये गए प्रयास से जिले में कोरोना के मामले सबसे कम रहे जिसके लिए उन्होंने सभी की सराहना की।

साथ ही धीरे-धीरे मौसम के बदलाव के साथ और भी सतर्कता बरतने एवं सभी व्यक्ति जो बाहर जा रहे हैं, उनके लिए मास्क को पहनना अनिवार्य करने और ना पहनने वालों के विरुद्ध आर्थिक दंड लगाने के लिए अभियान चलाने एवं व्यापारियों को बिना मास्क लगाए आने वाले लोगों को समान का विक्रय ना करने के साथ मेडिकल व्यवसायियों को अनिवार्य रूप से सर्दी-खांसी के मरीजों का रजिस्टर तैयार करने, स्वास्थ्य अमले को एंटीजन कीट के द्वारा टेस्टिंग कराने एवं कंटेन्मेंट जोन स्थापना के निर्देशों का पालन कराने को कहा।

इसके साथ ही उन्होंने जिले में सभी स्ट्रीट वेंडरों, ढाबों, होटलों के कर्मचारियों, स्वास्थ्य कर्मियों, प्रवासी मजदूरों एवं सुरक्षा बलों के जवान जो बाहर से जिले में आये हैं  उनकी नियमित रूप से जांच करने  एवं अन्य राज्यों से आने वाले लोगो पर कड़ी निगरानी के साथ क्वारेंटाइन सेंटरों के नियमित सेनेटाइजेशन के निर्देश दिए।

एक वर्ष में मलेरिया से जिले को मुक्त करना है प्राथमिकता

डॉ शुक्ला ने इसके अलावा जिले में चल रहे मलेरिया मुक्त बस्तर एवं सुपोषण अभियान के अंतर्गत किये गए कार्यों की प्रशंसा की एवं जिले से मलेरिया को एक वर्ष में पूर्णतः समाप्त करने के लिए परजीवी को ही समाप्त करने, मच्छरदानी लगाने, आईआरएस के छिड़काव, पानी के स्रोतों में गम्बूजिया मछली को डालने एवं व्यवहार परिवर्तन पर जोर देने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने कहा कि जिले में कोरोना विपदाकाल में भी कुपोषण के खिलाफ जंग नहीं रुकी है परन्तु इसके साथ हमें टीकाकरण, मलेरिया की रोकथाम , संस्थागत प्रसव पर ध्यान देने एवं सुपोषित हुए बच्चों का नियमित जांच को कहा ताकि बच्चों में कुपोषण के मूल कारणों को पहले ही नष्ट किया जा सके साथ ही उन्होंने जिले के नवाचारी कार्यक्रम “नंगत पीला” की कार्ययोजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ली।

इसके अलावा उन्होंने विभिन्न विभागों की वन अधिकार मान्यता, वनोपज संग्रहण, अंग्रेजी माध्यम उत्कृष्ट विद्यालय निर्माण, गौठनों के निर्माण एवं उन्हें मल्टीएक्टिविटी केन्द्र के रूप में विकसित करने, पंचायत भवन निर्माण, बिहान समूहों के कार्य एवं सुराजी ग्राम योजना आदि के कार्यों की प्रगति की जानकारी ली।
इस बैठक में पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी, जिला पंचायत सीईओ डीएन कश्यप, उत्तर वनमंडलाधिकारी धम्मशील गणवीर, दक्षिण वनमंडलाधिकारी उत्तम गुप्ता, सीएमएचओ टीआर कुँवर, सहायक आयुक्त जीआर शोरी समेत सभी विभागों के विभागाध्यक्ष एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

MyNews36 प्रतिनिधि राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.