कोंडागाँव/MyNews36 प्रतिनिधि- जिला प्रेरक संघ ने सरकार द्वारा बनाई जा रही नवीन योजना पढ़ना लिखना अभियान के खिलाफ करते हुए मुख्यमंत्री के नाम पर पत्र जिला कलेक्टर और कोंडागाँव विधायक व अध्यक्ष प्रदेश कॉग्रेस कमेटी छत्तीसगढ़ मोहन मरकाम को मुख्यमंत्री के नाम से सौपा गया है।

प्रदेश सचिव व जिला अध्यक्ष लखन लाल देवांगन जानकारी देते हुए बताया कि साक्षर भारत कार्यक्रम 31 मार्च 2018 से पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है। जिसमें राज्य के 16802 प्रेरक बेरोजगार हो गए हैं। वर्तमान में यह योजना पढ़ना लिखना अभियान के नाम से पुनः राज्य में प्रारंभ करने योजना बनाई गई है। सभी पदों को पूर्ववत सुरक्षित रखकर मात्र प्रेरकों को इस योजना से बाहर कर दिया गया है।

इसलिए प्रेरक संघ ने इस योजना को बंद करने की मांग की है। चुनाव के पूर्व कॉग्रेस द्वारा साक्षर भारत के प्रेरकों को नियमित रोजगार प्रदान करने हेतु अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल किया गया था। सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री एवम पंचायत मंत्री को ज्ञापन दिया गया।

जिसमें उन्होंने प्रेरकों को नियमित रोजगार प्रदान करने हेतु आश्वस्त किया था। साथ ही 40 से 45 विधायकों ने भी मुख्यमंत्री को पत्र प्रेषित कर प्रेरकों को नियमित रोजगार प्रदान करने हेतु उल्लेख किया है। पत्र प्रेषित करने वाले में प्रदेश सचिव व जिला अध्यक्ष लखन लाल देवांगन, प्रदेश प्रवक्ता मनसुख सेठिया, कोंडागांव ब्लॉक अध्यक्ष भजन बघेल उपस्थित थे।

MyNews36 संवाददाता राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

MyNews36 App डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.