सोशल मीडिया पर इंडिया टीवी का एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है,जिसमें लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके रेडियो प्रोग्राम ‘मन की बात’ के दौरान 1 करोड़ कोरोना संक्रमित मरीजों का मुफ्त में इलाज करने का दावा किया है।

क्या है वायरल-

ट्विटर यूजर Ramandeep Singh Mann ने 31 मई को इंडिया टीवी का स्क्रीनशॉट को ट्वीट करते हुए लिखा- ‘भारत में 1.80 लाख लोग संक्रमित लेकिन मोदीजी कहते हैं, हमने 1 करोड़ कोरोना संक्रमितों का इलाज किया।’

इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट अब फेसबुक पर वायरल हो रहा है।

क्या है सच-

पीएम मोदी ने 31 मई को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए राष्ट्र को संबोधित किया था। मोदीजी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर हमें उस कार्यक्रम के वीडियो मिला, जिसे पूरा सुनने पर हमने पाया कि पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के बारे में बात करते हुए कहा था कि इस योजना की मदद से देश के एक करोड़ से अधिक लोगों का मुफ्त में इलाज किया जा चुका है।

मतलब यह स्पष्ट है कि पीएम ने एक करोड़ कोरोना मरीजों के इलाज के बारे में नहीं, बल्कि आयुष्मान भारत योजना के तहत एक करोड़ लोगों के इलाज करने की बात कही थी।

इसके बाद हमें इंडिया टीवी का इस मामले पर एक स्पष्टीकरण भी मिला।इंडिया टीवी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 1 जून को ट्वीट किया है- “#Correction कल मन की बात के प्रसारण के दौरान ये खबर चली कि भारत में कोरोना के एक करोड़ मरीज़ों का इलाज हुआ।ये मानवीय भूल थी।हम साफ कर दें कि भारत में कोरोना मरीज़ों की संख्या इतनी ज्यादा नहीं है।इस गलती के लिए हमें खेद है।’

MyNews36 की पड़ताल में पाया गया है कि पीएम मोदी ने एक करोड़ कोरोना संक्रमित मरीजों के मुफ्त इलाज का दावा नहीं किया था। उन्होंने आयुष्मान भारत योजना के तहत एक करोड़ मरीजों के मुफ्त इलाज का जिक्र किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.