पंथी नृत्य के प्रोत्साहन के लिए देवदास बंजारे स्मृति पंथी नृत्य पुरस्कार स्थापित

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले वर्ष गुरु घासीदास जयंती पर की थी घोषणा

रायपुर – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के परिपालन में संस्कृति विभाग द्वारा सुप्रसिद्ध पंथी नर्तक स्वर्गीय श्री देवदास बंजारे की स्मृति में राज्य स्तरीय ‘देवदास बंजारे स्मृति पंथी नृत्य पुरस्कार’ की स्थापना की गई है। इसका उद्देश्य छत्तीसगढ़ की लोक शैली ‘पंथी नृत्य’ प्रदर्शनकारी कला के क्षेत्र में प्रतिभागियों एवं संस्थाओ को प्रोत्साहित एवं सम्मानित करना है। देवदास बंजारे स्मृति पंथी नृत्य पुरस्कार की नियमावली का प्रकाशन 10 सितम्बर 2021 को राजपत्र में हो चुका है।

यहां यह उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 18 दिसंबर 2020 को बाबा गुरू घासीदास जी की जयंती के अवसर पर स्वर्गीय
देवदास बंजारे की स्मृति में पंथी नृत्य पुरस्कार स्थापित किए जाने की घोषणा की थी। इस पुरस्कार को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले राज्य अलंकरण समारोह में शामिल कर लिया गया है। पंथी नृत्य पुरस्कार के तहत 50 हजार रूपए की सम्मान राशि, प्रतीक चिन्ह और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

गौरतलब है कि राज्य में संस्कृति विभाग द्वारा पहले से ही ‘देवदास बंजारे स्मृति पुरस्कार स्थापित है, जो की राज्य में प्रदर्शनकारी लोक शैली कला क्षेत्र के क्षेत्र अंतर्गत स्थापित है। मुख्यमंत्री की पहल पर अब सुप्रसिद्ध पंथी नर्तक स्वर्गीय देवदास बंजारे की स्मृति में यह राज्य स्तरीय दूसरा पुरस्कार केवल लोक शैली ‘पंथी नृत्य’ प्रदर्शनकारी कला के क्षेत्र में स्थापित किया गया है। इस प्रकार अब संस्कृति विभाग से दिए वाले पुरस्कारों की संख्या अब 8 हो गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.