Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Cyber crime india : पासपोर्ट कार्यालय ने पकड़ी चार फर्जी वेबसाइट,पुलिस को लिखा पत्र

Cyber crime india
www.passportindia.gov.in पर ही लॉग इन करके आवेदन करें

नई दिल्ली- यदि आप ऑनलाइन पासपोर्ट के लिए आवेदन कर रहे हैं तो इस बात का खास ख्याल रखें कि कहीं आप किसी फर्जी वेबसाइट के जरिए आवेदन तो नहीं कर रहे हैं। पासपोर्ट कार्यालय ने हाल ही में चार फर्जी वेबसाइट पकड़ी हैं।रीजनल पासपोर्ट अधिकारी ने विदेश मंत्रालय से इसकी शिकायत की है।

उन्होंने साइबर पुलिस को मामले की जांच करने और साइट को हटाने के लिए पत्र लिखा है।पासपोर्ट कार्यालय में एक आवेदक ने फर्जी वेबसाइट के जरिए ठगे जाने की लिखित में शिकायत की है।वहीं 30 से ज्यादा आवेदकों ने पासपोर्ट कार्यालय में फोन किया है।जिनमें कई लोगों ने ठगे जाने की बात बताई है।

आवेदकों ने शिकायत में बताया है कि-आवेदन करने के बाद पैसा जमा करने की प्रक्रिया के पूरा होते ही साइट बंद हो जाती है।साइट पर दिए मोबाइल नंबर पर फोन करने पर कोई जवाब नहीं मिलता है।यह फर्जी वेबसाइट इस तरह हैं-
www.applypassport.org, www.online passportindia.com, www.passport.india.org, www.onlinepassport.org

पासपोर्ट आवेदन के लिए यह हैं अधिकृत वेबसाइट

पासपोर्ट कार्यालय के अधिकारियों के अनुसार www.passportindia.gov.in पर ही लॉग इन करके आवेदन करें।ईमेल पर एक्टिवेट करने के बाद आवेदन करें।सामान्य पासपोर्ट बनाने के लिए 1500 रुपये की फीस लगती है।वहीं तत्काल श्रेणी के लिए यह राशि 3500 रुपये है।
आवेदकों ने सुनाई आपबीती

रवींद्र अहिरवार ने बताया कि-वह अपने दोस्त और उसकी मां के लिए आवेदन कर रहे थे।इंटरनेट पर पासपोर्ट इंडिया सर्च करते ही कई साइट्स सामने आ गईं।जब उन्होंने एक पर क्लिक किया तो प्रोफॉर्मा खुल गया,जिसे उन्होंने भर दिया।प्रोसेस के तहत चार हजार रुपये जमा कराने का विकल्प आया। राशि जमा करने के बाद अपाइंटमेंट की तारीख भी मिल गई। इसके बाद जब प्रोसेस ट्रैक करने की कोशिश की तो वेबसाइट नहीं खुली।

रीजनल पासपोर्ट अधिकारी रश्मि बघेल ने कहा,-‘फर्जी वेबसाइट के जरिए ठगी करने वालों की जानकारी मिलते ही साइट्स सर्च करके विदेश मंत्रालय को इसकी सूचना दी।पुलिस अधिकारियों से बातचीत की।आवेदकों से कहा गया है कि वह अधिकृत वेबसाइट के जरिए आवेदन करें।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.