16 महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया सीआरपीएफ ने

कोंटा MyNews36 प्रतिनिधि- वन ग्राम मराईगुडा में सीआरपीएफ 217 बटालियन के कमाण्डेंट अशोक कुमार के निर्देशानुसार अतिसंवेदनशील क्षेत्र गोल्लापल्ली , मराईगुडा , लिंगपल्ली के 16 स्कूली बच्चों व महिलाओं को नि:शुल्क सिलाई मशीन व कास्ट्यूम डिजाईनिंग का परीक्षण एक माह दिया गया व सभी बालिकाएं पूर्ण रूप से सिलाई व कास्ट्यूम डिजाईन सीखने के पश्चात सभी लोगों को प्रमाण पत्र दिया गया।

बालिकाओं को आत्म निर्भर बनाना लक्ष्य- अशोक कुमार

217 बटालियन के कमाण्डेन्ट अशोक कुमार ने कहा कि सिलाई प्रशिक्षण केंद्र पर युवतियां व महिलाएं प्रशिक्षण प्राप्त किया हैं, अपने घर बैठे कपड़ों की सिलाई का काम शुरू करके परिवार के लिए अतिरिक्त आमदनी कर सकेगी। सीआरपीएफ युवक-युवतियों के विकास के लिए हमेशा तत्पर रहती है। समय समय पर कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें प्रेरित किया जाता हैं, ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। कटिंग एंड टेलरिंग का काम एक ऐसा काम है, जिसमें पांच रुपए का धागा दो सौ रुपए तक की कमाई का जरिया बनता है। कमाण्डेंट ने अंत में कहा कि प्रशिक्षण प्राप्त किये बालिकाओं व महिलाओं को आगे सिलाई मशीन भी दी जाएगी।

सीआरपीएफ के सिलाई सेंटर में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुकी मोनिका ने कहा कि वे पूर्ण तरह सिलाई सीख चुकी हैं अब वे अपने ग्राम में कोरोना माहामारी से बचने निशुल्क मास्क सीलकर समाज की सेवा व कास्ट्यूम डिजाइन कर आत्मनिर्भर बनेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.