रायपुर| छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल विभाग के गुणवत्ताहीन सामग्री खरीदी में विगत 15 वर्षों में हुए घोटाले सामग्री की कमी और वर्तमान में कंपनी 4.5 हज़ार करोड़ नुकसान की तरफ ध्यान आकर्षित कराना चाहते है।

गुणवत्ताहीन ट्रांसपेरेंट,अंडरग्राउंड महंगा केबल्स खरीदने के कारण बिना लोड के ही केवल फटकर आपस में शार्ट हो जाता है,कारण धूप,हवा और पानी झेल नहीं पा रहे हैं।पूर्व में पीवीसी केबल खरीदा जाता था जो करीबन 8 से 10 साल चलता था किंतु वर्तमान में ट्रांसपेरेंट महंगा केबल 1 साल भी नहीं चल पा रहा है जिसे उपभोक्ताओं एवं किसानों को निरंतर बिजली प्रदान नहीं कर पा रहे हैं स्टाफ कम होने के कारण बिजलीकर्मियों और संविदाकर्मियों को मेंटेनेंस करने में अनावश्यक परेशानी हो रही है एवं कर्मचारियों के अथक मेहनत परिश्रम का सही इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है।

सामग्री की कमी वर्तमान में पीक लोड के बावजूद भी जैसे कंडक्टर 3,5,7 तार जोड़ने/जंफर आदि कार्यों के लिए नहीं है|एबी केबल नहीं है,टीसी फ्यूज नहीं है,लग्स नहीं है,पीवीसी केबल 70,120,150,300 नहीं है,6 मीटर वुडन लेडर नहीं है,दस्ताना नहीं है,कॉम्बिनेशन प्लायर नहीं है,टार्च नहीं है,कुल्हाड़ी नहीं है, डिस्चार्ज राड नहीं है,ऑपरेटिंग राड नहीं है,सेफ्टी बेल्ट नहीं है,हेलमेट नहीं है,पीवीसी शूज नहीं एवं लाइनमैन बैग भी नहीं है आदि ज़रूरी समान उपलब्ध नहीं है |

घोटाला

मीटर शिफ्टिंग घोटाला 8 करोड़

NTRO घोटाला- 1 करोड़ 90 लाख

भिलाई पावर हाउस पोल फेक्ट्री लीज़ घोटालाRAPDRP फंड का दुरुपयोग घोटाला

33/11 KV सब स्टेशन गुणवत्ताहीन VACCUM CIRCUIT ब्रेकर पेनल खरीदी घोटाला।

33/11 KV सब स्टेशन (लागत 2 करोड़) निर्माण घोटाला

अनुकंपा नियुक्ति घोटाला

गुणवत्ताहीन डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्म खरीदी घोटाला।

RAPDRP/SPOT बिलिंग के तहत लाखों खर्च कर ऑटोमैटिक मैंसेजिंग सिस्टम/SMS इन्फॉर्मेशन डेवलप्ड/प्रदेश में 80-90 प्रतिशत उपभोक्ताओं का मोबाइल नंबर सिस्टम में दर्ज/अपलोड होने के उपरांत भी उच्च अधिकारियों के द्वारा बिजली बंद की सूचना 64 संभागों में रोजाना एक या दो इस्तेहार समाचार पत्रों को दिया जाता है जिससे कंपनी का रोजाना लाखों रुपए का अनावश्यक आर्थिक नुकशान हो रहा है।

आस पास के लोगों ने इन सब घोटालों को देखते हुए SIT टीम गठित कर समिति में तकनीकी संघ के एक प्रतिनिधि को सम्मिलित करने की मांग की है|

जिससे कंपनी को हो रहे आर्थिक नुकसान से उभार कर उपभोक्ता और किसानों को निरंतर एवं उचित मूल्य में बिजली प्रदाय करने के साथ ही एवं कर्मचारियों को सामग्री एवं सुरक्षा संसाधन उपलब्ध होने पर उत्साह पूर्वक कार्य कराने में आसानी होगी।

नोट:यह बातें हम नहीं छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल तकनीकी संघ द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कर और ज्ञापन प्रबंध निदेशक छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिसटीब्यूशन लिमिटेड डगनिया रायपुर को लिखी गई है बी नागेश्वर राव ने इस संबंध में संघ को लिखी गई पत्र से पता चला है और साथ ही उन्होंने जांच की मांग की है।

Summary
0 %
User Rating 3.9 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In एक्सक्लूसिव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Kabir Das: जीवनभर आडंबरों पर प्रहार करते रहे संत कबीरदास,पढ़े कुछ दोहे…

संत कबीरदास आजीवन समाज में व्याप्त आडंबरों पर प्रहार करते रहे।वह कर्म प्रधान समाज के पैरोक…