Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Court order:3 माह में मिला न्याय,नाबालिग के दुष्कर्मी को 20 साल की कारावास

Court order

रायगढ़-जिले में नाबालिग से दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने कुसमुरा निवासी पितांबर चौहान को दोषी मानते हुए 20 साल के कारावास की सजा सुनाई है।कोतरा पुलिस की त्वरित विवेचना और कार्रवाई के चलते पीड़िता को तीन माह में ही न्याय दिलाया जा सका। वहीं सारंगढ़ में घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास करने वाले दोषियों को न्यायलय ने दो-दो साल की सजा और दोनों पर 500-500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

तीन माह पूर्व नाबालिग से हुआ था दुष्कर्म

कोतरा रोड थाना क्षेत्र के कुसमुरा निवासी पीतांबर चौहान ने 24 मार्च 2019 को पड़ोस में रहने वाली नाबालिग से दुष्कर्म किया था।मामले में शिकायत दर्ज होने के दूसरे दिन ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया और विवेचना की कार्रवाई पूरी कर न्यायलय के समक्ष प्रस्तुत किया था। जिस पर न्यायालय ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद शनिवार को अपना फैसला सुनाया है।न्यायाधीश ने मामले में आरोपी को दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट के तहत दोषी करार दिया।

Whats App ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

भाई को मारपीट कर भगा,16 वर्षीया किशोरी से किया था दुष्कर्म का प्रयास

सारंगढ़-अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश डी आर देवांगन ने दुष्कर्म का प्रयास करने वाले दुष्यंत चौहान और मधुसूदन उर्फ महेंद्र को दो-दो साल कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई है।जानकारी के अनुसार बरमकेला थाना स्थित गांव में 16 वर्षीय किशोरी घर में अपने भाई के साथ अकेली थी। घर का दरवाज़ा अंदर से बंद था।पीछे की बाड़ी के रास्ते गांव के दुष्यंत चौहान और मधुसूदन उर्फ महेंद्र चौहान घर में घुसे।

दोनों ने किशोरी के 12 साल के भाई को भगाकर उससे दुष्कर्म का प्रयास किया।किशोरी चिल्लाई तो दोनों पीछे के रास्ते से भाग गए।मामले की रिपोर्ट पीड़िता व उसके घर वालों ने बरमकेला थाने में दर्ज कराई। जज ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद मामला सही मिलने पर दोनों को दोषी ठहराते हुए दो-दो वर्ष कारावास व पांच-पांच सौ रुपयों के अर्थदंड व धारा 354/34 में 2-2 वर्ष कारावास एवं पांच पांच सौ जुर्माने की सजा सुनाई।दोनों सजाएं साथ ही चलेगीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.