Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

भ्रष्ट्राचारी:साढ़े नौ करोड़ की सड़क में चोरी के मटेरियल

PWD के अधिकारी कमीशन खोरी में मस्त

Corrupt

Corrupt,Corrupt

राजनांदगांव MyNews36- जिले के अंबागढ़ चौकी लोक निर्माण अनुविभाग के अधीन बनाए जा रहे एटककन्हार से भर्रीटोला सड़क निर्माण कार्य को मूल ठेकदार ने पेटी में दे रखा है।पेटी ठेकेदार का काम ऐसा है कि-सारा मटेरियल चोरी का उपयोग किया जा रहा है।करीब साढ़े नौ करोड़ की सड़क का काम 15 प्रतिशत बिलो (कम )में लिया गया है ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि-काम किस स्तर का हो रहा होगा?लोक निर्माण संभाग राजनांदगांव के अधिकारियों को सिर्फ कमीशन से मतलब है उन्होने ठेकेदार को कार्य में मनमानी की खुली छूट दे रखी है।पीडब्ल्यूडी के साईड इंजीनियर यादव का कहना है कि- विभाग की ओर से ठेकेदार को कई बार हिदायत दी गई है पर कार्य में सुधार नहीं आया है।

जानकारी के अनुसार-एटकन्हार से भर्रीटोला तक बनाए जा रहे 15 किलोमीटर की सड़क का ठेका मेसर्स लेखराम साहू राजनांदगांव ने ले रखा है।उन्होने कार्य को किसी राजनांदगांव के किसी विनय सिंह को दे रखा है।नौ करोड 64 लाख रूपए की लागत वाली सड़क में अभी सतही स्तर के काम ही हुए है पर उसमें ठेकदार द्वारा भ्रष्टाचार किए जाने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ी गई है। सड़क में प्रापर निर्धारित मापदंड के अनुसार दोनों ओर खुदाई नहीं की गई है।

मापदंड के अनुसार मटेरियल नहीं डाले जा रहे हैं मुरम की जगह मिट्टी और डस्ट का उपयोग किया गया है। सड़क निर्माण कार्य में मुरम और गिट्टी पथरों का उपयोग चोरी कर किया जा रहा है।इस बारे में ठेकेदार मेसर्स लेखराम साहू की ओर से कहीं कोई मुरम खनन या अन्य मटेरियल अभिवहन की कोई अनुमति नहीं ली गई है।उनके द्वारा जिस ठेकेदार को काम को पेटी में दिया गया है उनके द्वारा कार्य में अधिकाधिक राशि बचाने के चक्कर में सारा मटेरियल चोरी का उपयोग किया जा रहा है। सड़क निर्माण क्षेत्र में कई जगहों पर मुरम के अवैध उत्खनन के प्रमाण पाए गए है जिसमें पेटी ठेकेदार विनय सिंह की पोकलैंड मशीन और हाईवा देखी गई है।

इस बारे में ठेकेदार मेसर्स लेखराम साहू ने स्वीकार किया कि -उन्होने कार्य को विनय सिंह को पेटी में दे रखा है।सवाल यह उठता है कि शासकीय प्रकिया के तहत कार्य को क्या पेटी में दिए जाने का प्रावधान है?

जांच में खुलेंंगे कई राज

सड़क निमार्ण कार्य को लेकर जिस ढंग से मनमानी की जा रही है उससे यह स्पष्ट है कि ठेकेदार मेसर्स लेखराम साहू कई बिंदुओं को लेकर जांच के दायरे में आएंगे?विभागीय जानकारी के अनुसार कार्य में अभी पुल पुलियों का निर्माण बाकि है।इस क्षेत्र के ग्रामीणों को कहना है कि प्रारंभिक दौर से ही सड़क निर्माण कार्य में गुणवत्ता को ताक में रख दिया गया है।इस अंचल की आवाजाही का प्रमुख मार्ग होने से ग्रामीणों को उम्मीद थी सड़क निर्माण कार्य काफी अच्छे ढंग से होगा पर ठेकेदार की मनमानी के चलते सड़क निर्माण कार्य पूरी तरह से भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है।माना जा रहा है कि कार्य की विभागीय स्तर पर जांच हुई ठेकेदार के खिलाफ आपराधिक मामला भी दर्ज हो सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.