कोरोना रोगियों को दिल का दौरा पड़ने से मौत का अधिक खतरा, अध्ययन से हुआ खुलासा…

कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 रोगियों को दिल का दौरा पड़ने पर मौत होने का अधिक खतरा है। शुक्रवार को प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि इस मामले में महिलाएं विशेष रूप से अधिक संवेदनशील हैं। स्वीडन में किए गए अध्ययन में पाया गया है कि कोविड-19 की चपेट में आईं महिलाओं की दिल का दौरा पड़ने से मौत होने की आशंका पुरुषों के मुकाबले 9 गुणा अधिक है। यूरोपियन हार्ट पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया है कि इसमें 1946 ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जिन्हें बीते साल एक जनवरी से 20 जुलाई के बीच अस्पताल के बाहर किसी दूसरे स्थान पर दिल का दौरा पड़ा, जबकि 1080 ऐसे लोग शामिल किए गए, जिनके साथ अस्पताल में ऐसा हुआ।

स्वीडन के गोथेनबर्ग विश्वविद्यालय के अध्ययनकर्ताओं के अनुसार महामारी के दौरान किए गए अध्ययन में अस्पताल में दिल के दौरे का शिकार हुए 10 प्रतिशत लोग कोरोनावायरस से संक्रमित थे जबकि अस्पताल से बाहर ऐसे रोगियों की संख्या 16 प्रतिशत थी।

उन्होंने कहा कि अस्पताल में दिल के दौरे का शिकार हुए लोंगों के तीस दिन के अंदर जान गंवाने का खतरा 3.4 गुणा बढ़ गया था जबकि जिन लोगों के साथ अस्पताल से बाहर ऐसा हुआ उनके समान अवधि में मरने का खतरा 2.3 गुणा अधिक था।

गोथेनबर्ग विश्वविद्यालय में चिकित्सा के छात्र तथा अध्ययन के प्रथम लेखक पेड्रम सुल्तानियन ने कहा, हमारे अध्ययन से साफ पता चलता है कि दिल का दौरा पड़ना और कोरोनावायरस से संक्रमित होना एक घातक संयोजन है।(भाषा)

Leave A Reply

Your email address will not be published.