चीन में कोरोना वायरस महामारी के कारण लागू लॉकडाउन को हटाने और काराखानों और दुकानों को फिर से खोलने के बाद अर्थव्यवस्था में काफी सुधार आया है। चीन की अर्थव्यवस्था 3.2 फीसदी की दर से बढ़ी है। चीन ने गुरुवार को इसके आंकड़ों जारी किए, जिसके अनुसार आर्थिक वृद्धि में सुधार हुआ है, जबकि इससे पिछली तिमाही में अर्थव्यवस्था की रफ्तार 6.8 फीसदी की दर से घटी थी। 

सबसे पहले चीन में बंद हुई थी अर्थव्यवस्था 

मालूम हो कि कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत दिसंबर माह में चीन से ही हुई थी। इसलिए चीन में सबसे पहले अर्थव्यवस्था को बंद किया गया था। इसके बाद मार्च में चीन की अर्थव्यवस्था फिर से खुलने लगी थी। ताजा आंकड़ों के अनुसार, विनिर्माण और कुछ दूसरे उद्योगों में कामकाज लगभग सामान्य स्थिति में वापस आ गया है, लेकिन बेरोजगारी की आशंका के चलते उपभोक्ता खर्च कमजोर है। चीन में सिनेमा और कुछ अन्य व्यवसाय अभी भी बंद हैं और यात्रा पर प्रतिबंध लगा हुआ है। 
यह भी पढ़ें: जानें क्या है बिटकॉइन, जिसकी मांग कर रहा था दिग्गजों का ट्विटर अकाउंट हैक करने वाला

भारत और चीन के बीच घटा द्विपक्षीय व्यापार

भारत-चीन सीमा विवाद के बाद चीन के खिलाफ पूरा देश एकजुट हो गया है। पूरे देश में चीनी कंपनियों और चीनी प्रोडक्ट का लगातार बहिष्कार हो रहा है। भारत और चीन के बीच द्विपक्षीय व्यापार 2019-20 में घटकर 81.87 अरब डॉलर रह गया, जो 2018-19 में 87.08 अरब डॉलर था। दोनों देशों के बीच व्यापार अंतर भी 53.57 अरब डॉलर से घटकर 48.66 अरब डॉलर रह गया। आंकड़ों के मुताबिक, चीन 2013-14 से 2017-18 तक भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार था। चीन से पहले, यूएई देश का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.