छ.ग में तेजी से बढ रहा कोरोना संक्रमण,21 जुलाई के बाद कलेक्टर लगा सकेंगे लॉकडाउन

रायपुर- छत्तीसगढ में पिछले 15 दिनों के अंदर काेरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी के साथ बढे हैं। रायपुर में सिर्फ 15 दिनों के भीतर ही कुल मामलों की संख्या दोगुनी हो गई है। बडी संख्या में मरीजों के मिलने से लोगों के बीच भी भय का माहौल पनप रहा है। कुछ शहरों में शहर प्रशासन ने अपने स्तर पर सप्ताह में दो दिनों का पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है।रायपुर में भी बाजारों के खुलने और बंद होने के समय में परिवर्तन किया गया है। देश भर में बढ रहे मामलों के चलते कई राज्यों में दोबारा लॉकडाउन की घोषणा की गई है और अब छत्तीसगढ में भी हालात ऐसे ही बन रहे हैं। ताजा हालात को देखते हुए अब राज्य सरकार भी गंभीरता दिखा रही है।

अभी सीएम हाउस में एक बैठक बुलाई गई है, जिसमें मुख्यमंत्री अन्य मंत्रियों के साथ वर्तमान स्थिति को लेकर चर्चा करेंगे। बता दें कि शनिवार को एक ही दिन में राज्य में कोरोना के 242 मरीज मिले थे, जिसमें से 127 मरीज सिर्फ राजधानी रायपुर से थे। चर्चा है कि कोरोना के बढ़े खतरे के मद्​देनजर राज्य में एक बार फिर 15 दिनों का सख्त लॉकडाउन लागू किया जा सकता है।

आम नागरिक, व्यापारिक संगठन और बैंक कर्मचारी संघों के लोग प्रशासन के पास लॉकडाउन लगाने के लिए अर्जियां लेकर आ रहे हैं। प्रशासन भी पिछले दो एक सप्ताह से स्थिति पर लगातार निगाह रखे हुए है। राजधानी रायपुर में शाम सात बजे तक पूरे बाजार को बंद किया जा रहा है। बिलासपुर में भी जिला प्रशासन ने आज इस तरह का एक आदेश जारी किया है।

सरगुजा संभाग के सभी शहरों में सप्ताह में दो दिनों का स्वस्फूर्त लॉकडाउन लागू है। आज की बैठक को लेकर यह चर्चा हाे रही है कि राज्य में 15 दिनों का लॉकडाउन लागू करने का फैसला सरकार ले सकती है जो आज रात से ही लागू हो सकता है। कल ही मंत्रालय से एक आदेश जारी किया गया था जिसमें लॉकडाउन और कोविड 19 नियंत्रण के लिए गाइड लाइन जारी करते हुए सभी जिलों में इसे सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गए थे।

वही आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अद्यक्षता में हुए फैसला में निर्णय लिया गया है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 21 जुलाई के बाद कलेक्टर लॉक डाउन के लिए आदेश जारी कर सकता ह।

छत्तीसगढ में काेरोना वायरस संक्रमण की ताजा स्थिति

  • अब तक कुल संक्रमित- 4976
  • नए मामले- 215
  • स्वस्थ्य हुए- 3512
  • उपचाररत- 1440
  • कुल सेंपल जांच- 232873
  • मृत्यु- 21

Leave A Reply

Your email address will not be published.