नई दिल्ली – राजधानी दिल्ली में कोरोना की हालत पहले से बिगड़ी हुई है और अब संसद से कोरोना के विस्फोट की खबर है। संसद में मौजूद कर्मचारियों का औचक टेस्ट किये जाने पर करीब 400 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए गए हैं। मीडिया सूत्रों के मुताबिक ये टेस्ट 6-7 जनवरी को हुआ था, जिसके रिजल्ट अब आये हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, राज्यसभा सचिवालय के 65, लोकसभा सचिवालय के करीब 200 और संसद में काम करने वाले अन्य 133 लोग 4 से 8 जनवरी के दौरान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। स्थिति को देखते हुए राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने फौरन निर्देश जारी किए कि सभी 1300 अधिकारियों और कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट किया जाए और जरूरत पड़ने पर अस्पताल में भर्ती होने और इलाज में मदद की जाए। साथ ही संक्रमण ठीक होने पर भी उनपर कड़ी निगरानी रखी जाए।

कर्मचारियों के लिए नये निर्देश

  • राज्यसभा सचिवालय ने अधिकारियों और कर्मचारियों की उपस्थिति पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • अवर सचिव/कार्यकारी अधिकारी के पद से नीचे के 50 फीसदी अधिकारियों और कर्मचारियों को इस महीने के अंत तक घर से ही काम करना होगा।
  • ये कुल कर्मचारियों की संख्या का लगभग 65 फीसदी है।
  • विकलांग और गर्भवती महिलाओं को कार्यालय में उपस्थित होने से छूट दी गई है।
  • अब से सभी आधिकारिक बैठकें वर्चुअल होंगी, यानी इसके लिए ऑफिस आने की जरुरत नहीं।

दिल्ली में कोरोना की स्थिति

राजधानी दिल्ली में कोरोना की स्थिति बिगड़ती जा रही है। शनिवार की शाम को राष्ट्रीय राजधानी में 20,181 नए कोविड मामले दर्ज किए गए, जो पिछले आठ महीनों में सबसे अधिक हैं। एक दिन पहले नये मामलों की संख्या 15 हजार के आसपास थी। ताजा मामलों ने शहर में संक्रमण की संख्या को 15 लाख 26 हजार 979 तक पहुंचा दिया है। वहीं 7 और मौतें दर्ज होने के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 25,143 हो गई है। अगर देश की बात करें तो पिछले 24 घंटे में कुल 1 लाख 59 हजार से भी ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में 327 मरीजों की मौत भी हुई है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 5 लाख 90 हजार से ज्यादा हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.