रायपुर – कला और संस्कृति के संरक्षण व संवर्धन के लिए इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ की तर्ज पर बस्तर, सरगुजा और रायपुर में लोककला एवं संस्कृति महाविद्यालय खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संस्कृति विभाग को इसके लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन महाविद्यालयों के प्रारंभ होने से बस्तर और सरगुजा अंचल की लोककला और संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक का एक सेंटर छत्तीसगढ़ में शुरू करने का प्रस्ताव केंद्र को भेजने के निर्देश भी दिए।

बैठक में सीएम के निर्देश

  • विशेष संरक्षित जनजातियों की भाषा में स्वास्थ्य, शिक्षा और योजनाओं के लिए चलाएं जन जागरुकता अभियान
  • जनगाजरुकता के लिए लोक कलाकारों का लिया जाए सहयोग
  • ऐतिहासिक और पुरातात्विक धरोहरों, पर्यटन स्थलों में पर्यटकों के लिए विकसित की जाएं सुविधाएं
  • सतरेंगा, गंगरेल और चित्रकूट में खुलेंगे बजट होटल
  • अमरकंटक मार्ग का किया जाएग सुदृढ़ीकरण

मुख्यमंत्री बघेल ने मंगलवार को यहां अपने निवास कार्यालय में पर्यटन एवं संस्कृति विभागों के कामकाज की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि लोककला दलों के माध्यम से आदिवासी अंचलों में स्वास्थ्य, शिक्षा और जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए जनजागरूकता अभियान चलाया जाए। कला जत्थों के जरिये स्थानीय बोली-भाषाओं में कार्यक्रम तैयार कराए जाएं, जिससे उनका अच्छा प्रभाव हो।

उन्होंने कहा कि इससे विशेष पिछड़ी जनजातियों सरगुजा के पंडो, कवर्धा के बैगा और गरियाबंद, सिहावा-नगरी और मगरलोड क्षेत्र की कमार जनजाति के लोगों में शासकीय योजनाओं, स्वास्थ्य और शिक्षा के प्रति जागरूकता का संचार होगा। उन्होंने कहा कि रामायण मंडली प्रोत्साहन योजना के तहत मानस प्रतियोगिता अगले वर्ष जनवरी में आयोजित की जाए।

निजी क्षेत्र के सहयोग उपलब्ध कराई जाएगी पर्यटन सुविधाएं

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में जहां बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं, वहां पर्यटकों के रूकने के लिए निजी क्षेत्र की भागीदारी से होटलों की सुविधा सहित शौचालय, पेयजल, आवागमन जैसी बुनियादी सुविधाओं को विकसित करने की जरूरत पर बल दिया। शिवरीनारायण, चंदखुरी, राजिम, सतरेंगा, चित्रकोट, चंपारण, गंगरेल जैसे पर्यटन स्थलों में ये सुविधाएं विकसित की जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.