रायपुर- पूर्व सीएम रमन सिंह के कार्यकाल में बनाए गए स्काई वॉक को तोड़े जाने को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को बड़ा बयान दिया है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया से रूबरू होकर कहा है कि-स्काई वॉक का कोई उपयोग नहीं दिखाई देता।लोग सिर्फ इससे परेशान हैं,गर्मी में लोग नीचे खड़े भी नहीं हो सकते।स्काई वॉक ऊपर में फाइबर ग्लास और नीचे में एलुमिनियम सीट है।

बता दें स्काई वॉक को लेकर लोक निर्माण विभाग ने लोगों से सुझाव मांगे हैं।15 जून तक स्काई वॉक के संबंध में आप अपनी राय कार्यपालन अभियंता,लोक निर्माण विभाग (सेतु निर्माण संभाग) सिरपुर भवन कैंपस,आकाशवाणी में भेज सकते हैं।

लोक निर्माण विभाग द्वारा सुझाव के लिए तय किए गए बिन्दु इस प्रकार हैं-

  1. क्या निर्माणाधीन स्काई वाक का निर्माण पूर्ण कर उपयोग किया जाना चाहिए ?
  2. क्या निर्माणाधीन स्काई वॉक का किसी और रूप में उपयोग किया जा सकता है ?
  3. क्या निर्माणाधीन स्काई वाक को तोड़कर उसे हटाया जाना चाहिए ?
  4. निर्माणाधीन स्काई वॉक के संबंध में अन्य वैकल्पिक सुझाव ?

गौरतलब है कि-भाजपा सरकार के दौरान पिछले दो सालों से राजधानी में बन रहे स्काई वॉक का काम अब भी अधूरा पड़ा है।कांग्रेस सरकार ने इसे भाजपा की व्यर्थ योजना बताकर इसका क्या करना चाहिए,इसे लेकर जनता से सुझाव मांगा है।

उल्लेखनीय है कि-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा रायपुर शहर में निर्माणाधीन स्काई वाक के संबंध में विगत 01 मार्च 2019 को छत्तीसगढ़ विधानसभा की समिति कक्ष में अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक में समीक्षा की गई थी।बैठक में यह तय किया गया था कि- निर्माणाधीन स्काई वाक के संबंध में आम जनता,जनप्रतिनिधि,लालगंगा-बाम्बे मार्केट-जयस्तंभ चौक के व्यापारियों,बुद्धिजीवियों का अभिमत लिया जाए तथा सुझाव के अनुसार आगामी कार्रवाई तय की जाए।

Summary
0 %
User Rating 0 Be the first one !
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Temple:दुनिया का सबसे अमीर मंदिर लेकिन भगवान सबसे गरीब,नहीं चुका पाए कर्ज

भारत मंदिरों का देश है।यहां पर जितने मंदिर उतने ही उनमें रहस्य और अलग-अलग मान्यताएं छिपी ह…