Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

City Crime :पांच दिन से लापता नर्स की लाश मिली घर में,मामला था कुछ ऐसा

City Crime

रायपुर। बाहर से बंद घर से उठ रही दुर्गंध से परेशान पड़ोसियों ने मकान मालिक को इसकी सूचना दी।मकान मालिक ने पड़ोसियों की मौजूदगी में दरवाजा खोला।भीतर का नाजारा देख सभी चौंक गए,क्योंकि फर्श पर नर्स की सड़ी-गली लाश पड़ी थी।घटना सरस्वती नगर थाना क्षेत्र के कोटा पानी टंकी के पास की है।पुलिस ने प्रारंभिक जांच में हत्या का मामला मानकर तफ्तीश शुरू कर दी है।मृतका की पहचान कर ली गई है।वह मूलतः बालोद जिले के देवरी,अलिवारा केरता की रहने वाली थी।पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर घटना की सूचना परिजनों को दे दी है।

सरस्वती नगर थाना प्रभारी जितेंद्र वर्मा ने बताया कि-कोटा स्थित पानी टंकी के पास पिछले एक महीने से किराए के मकान में रोमीन भूआर्य (28) रह रही थी।यह मकान उद्योग विभाग में पदस्थ एसपी चटर्जी का है।इस मकान से सुबह से ही तेज दुर्गंध उठ रही थी।

पड़ोसियों ने पहले इस नजरअंदाज कर दिया था,लेकिन दोपहर में जब उनका ध्यान बाहर से दरवाजे पर लगे सांकल पर गया तब अनहोनी की आशंका में मकान मालिक को खबर दी।चटर्जी पड़ोसियों के साथ दरवाजे का सांकल खोलकर भीतर कमरे में पहुंचे तो बेडरूम में जमीन पर रोमीन की लाश पड़ी देखकर तत्काल पुलिस को सूचना दी।

नहीं मिले चोट के निशान

थाना प्रभारी का कहना है कि-मृतका के शरीर पर चोट के निशान दिखाई नहीं दिए,लेकिन मामला संदेहास्पद इसलिए है कि-भीतर लाश और बाहर से दरवाजे का सांकल लगा हुआ था।मृतका अकेली रहती थी।मंगलवार को परिजनों की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।पुलिस को शॉर्ट पीएम रिपोर्ट का इंतजार है,ताकि साफ हो सके कि मामला हत्या का है या कुछ और।

चार दिन से नहीं गई थी अस्पताल

रोमीन सात महीने से सुयश हॉस्पिटल में नर्स का काम कर रही थी। चार जुलाई को दोपहर तक ड्यूटी करने के बाद से वह अस्पताल नहीं गई। उसके साथ काम करने वाली एक नर्स ने पुलिस को बताया कि रोमीन ने बताया था कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है। घर जाने के बाद दो दिन जब वह नहीं आई तब मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की,लेकिन बात नहीं हो पाई।बाद में मोबाइल स्वीच ऑफ हो गया। सहेलियों से रोमीन के बारे में विस्तृत पूछताछ की जा रही है।

Add By Mynews36

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.