Chitfund

कोरबा- जिला पुलिस ने चिटफंड कंपनी के एक डायरेक्टर को गिरफ्तार किया है।गिरफ्तार आरोपी बिनोदरी प्रोजेक्ट लिमिटेड का मुख्य निदेशक है।आरोपी कोरबा में करीब 150 निवेशकों की 1 करोड़ से अधिक की धनराशि गबन कर फरार हो गया था।खास बात यह है कि चिटफंड के इस ठगराज धिरेन स्वाइन को पुलिस ने इलेक्ट्रीशियन बनकर गिरफ्तार किया है।

कोरबा CSP शेरबहादुर ठाकुर ने एक प्रेस कांफ्रेस कर पूरे मामले का खुलासा करते बताया कि-मानिकपुर चौकी अंतर्गत शारदा विहार के पास बिनोदरी प्रोजेक्ट लिमिटेड का दफ्तर खोला गया था।लोगों को लालच देकर फिक्स डिपॉजिट कराकर कंपनी 2014 में फरार हो गई थी। कंपनी के खिलाफ मिली रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने मुख्य निदेशक के मूल निवास ओडिशा में कई बार दबिश दी, लेकिन वो बार-बार फरार हो जाता था।

इस बार कोरबा एसपी को आरोपी धिरेन स्वाइन के दिल्ली में होने की पुख्ता जानकारी मिली थी।जिसके बाद एक टीम बना दिल्ली भेजा गई। तीन दिन की पड़ताल के बाद पुलिस ने आरोपी के घर में इलेक्ट्रीशियन बनकर आरोपी धिरेन को गिरफ्तार कर लिया।बाद में पुलिस आरोपी को दिल्ली कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड पर कोरबा लेकर आई।

बता दें कि-राज्य में सत्ता परिवर्तन के साथ ही चिटफंड कंपनी से जुड़े मुख्य मालिक लगातार पुलिस पकड़ में आ रहे हैं।इससे पहले पुलिस केवल एजेंटों पर ही शिकंजा कस खानापूर्ति कर रही थी।कोरबा पुलिस ने दो दिन पहले ही चिटफंड कंपनी के दो अन्य डायरेक्टरों को गिरफ्तार किया था।हालांकि इस मामले में अब भी 3 अन्य लोग फरार है जिनकी बंगाल में होने की जानकारी मिली है।इधर पुलिस ने बिनोदरी कंपनी के ओडिशा में संपत्ति होने की जानकारी जुटाई है जिसकी कुर्की की कार्रवाई जल्द ही राजस्व विभाग के जरिये पूरी की जाएगी।

Summary
0 %
User Rating 3.75 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In क्राइम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Temple:दुनिया का सबसे अमीर मंदिर लेकिन भगवान सबसे गरीब,नहीं चुका पाए कर्ज

भारत मंदिरों का देश है।यहां पर जितने मंदिर उतने ही उनमें रहस्य और अलग-अलग मान्यताएं छिपी ह…