बचपन के इश्क ने ली जान : लड़की बार-बार कहती थी- मैं तुमसे प्यार करती हूं, तंग आकर युवक ने पत्थर से कुचला सिर….

Written by admin

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में एक तरफा प्यार के चक्कर में एक लड़की की जान चली गई। लड़की के बचपन के प्यार ने ही उसे तंग आकर मार दिया। वह बार-बार युवक से कहती थी कि उससे प्यार करती है और शादी करना चाहती हैं। समझाने के बाद भी जब नहीं मानी तो तंग आकर युवक ने पत्थर से युवती का सिर कुचलकर उसे मार डाला। पुलिस ने गुरुवार को आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। युवती का शव पुलिस को तीन दिन पहले जंगल में मिला था। मामला कुसमी थाना क्षेत्र का है।

दो जून को हुई लापता, पांच को मिला शव

जानकारी के मुताबिक, भुलसीकला के तेतरटोली निवासी सरस्वती गोड़ (20) पुत्री रामेश्वर गोंड़ दो जून को अपने मामा के घर से लापता हो गई। इसके बाद उसका शव पांच जून को जंगल में पगडंडी रास्ते पर मिला था। उसके सिर और गले को पत्थर से कुचला गया था। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जांच के दौरान पुलिस को युवती के मोबाइल की कॉल डिटेल से आखिरी बार गांव के ही प्रदीप यादव से बात होने का पता चला। प्रदीप को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कबूल ली।

कॉल कर बुलाया था आरोपी को

आरोपी प्रदीप यादव ने पुलिस को बताया कि दो जून को सरस्वती गोड़ ने अचानक कॉल किया। कहा कि भुलसीकला शासकीय हाई स्कूल में पढाई करने के बाद तुम मुझे भूल गए हो। मैं तुमसे मिलना चाहती हूं। फिर उसी दिन शाम करीब 7 बजे फिर कॉल किया और मिलने के लिए गांव के गढ़वाटोली के जंगल में बुलाया। बातचीत के दौरान सरस्वती ने प्रदीप से कहा कि, वह स्कूल के समय से ही पसंद करती है और शादी करना चाहती है। अभी भी वह साथ घर चलकर रहने के लिए तैयार है।

आक्रोश और गुस्से में आकर हत्या कर दी

प्रदीप का कहना है कि इस पर उसने सरस्वती को मना किया और समझाया कि वह उससे प्यार नहीं करता। वह न तो उससे शादी कर सकता है और न ही उसे अपने घर ले जा सकता है। इसके बाद प्रदीप वहां से जाने लगा, लेकिन सरस्वती उसके पीछे पड़ गई। वह प्रदीप के साथ घर लेकर चलने की जिद करने लगी। बार-बार मना करने पर भी जब सरस्वती नहीं मानी तो आरोप है कि प्रदीप ने उसे बुरी तरह से पीटा। सरस्वती बेहोश होकर नीचे गिर गई तो प्रदीप ने पत्थर से उसका सिर व चेहरा कुचल कर मार डाला।

About the author

admin

Leave a Comment