रायपुर MyNews36 – आज प्रदेश में हाल कुछ ऐसा है कि पशुओं की सेवा करने वाले कर्मचारियों को अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए व मानदेय प्राप्त के लिए धरना पर बैठना पड़ रहा है।बात कर रहे है छत्तीसगढ़ पशुपालन विभाग में विगत 20 वर्ष से ऊपर कार्य कर रहे कर्मचारियों की।जिन्हें आज भी मानदेय नही मिलता ये बड़े ही चिंता का विषय है।बुढ़ा तालाब धरना स्थल में 3 दिसंबर से अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे कर्मचारी निराशा हाथ लिए मांग पूरी होने की उम्मीद में धरना स्थल पर बैठे हुए है,लेकिन सरकार की नज़र इन पशु मित्रों के ऊपर नहीं है।सरकार को जल्द फैसला लेते हुए पशुमित्रों की मांग पूरा करना चाहिए।

धरना प्रदर्शन में विभिन्न जिलों से शामिल होने के लिए राजधानी रायपुर में लोग पहुँच रहे है,जिनमें रायपुर,कोंडागांव,पखांजूर जांजगीर-चांपा,कांकेर,धमतरी, कोरबा सहित अन्य जिले के लोग भी शामिल है।

प्रांत उपाअध्यक्ष प्रेमलाल दिनकर ने बताया कि- हमारी संघ अनिश्चित कालीन के लिए हड़ताल कर रहे है।आज हमारे साथी विभाग में सभी प्रमुख कार्य कर रहे है पर हम लोगों को विभाग में प्राथमिकता नही मिलना ये दुःख की बात है।कल हमारे संघ की ओर से हवन पूजा कराया जाएगा ताकि भगवान हमारे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सतबुद्धि दे और गोमाता की सेवा करने वाले की मांग को पूरा कर सके।साथ ही 15 दिसंबर 2021 को रैली निकालकर ज्ञापन दिया जाएगा।

जिला रायपुर से चंद्रशेखर सिंह राजपूत ने बताया कि-आज कार्य करते हुए हम सभी को निराशा हो रहा है क्योंकि गौमाता की सेवा करने वाले को शासन-प्रशासन से प्राथमिकता नही मिल रहा है। विभाग में हम लोगो का कार्य हर तरह से बेहतर है।हमारी मांग है सरकार से यही है कि तत्काल एक निश्चित मासिक मानदेय दिया जाय।जिससे कर्मचारी अपना कार्य और अच्छे से कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.