रायपुर – छत्तीसगढ़ के आर्थिक रूप से कमजोर युवा कलाकारों को आगे बढ़ाने के लिए छात्रवृत्ति देने की योजना लाई है। इसके लिए आवेदन संस्कृति विभाग ने 31 जनवरी मंगाए गए है।उल्लेखनीय है कि आर्थिक रूप से कमजोर युवा कलाकारों को उच्च प्रशिक्षण और शिक्षा के लिए राज्य के ऐसे छात्र-छात्राएं जो संगीत, नृत्य,प्रदर्शनकारी कला विधा में अध्ययनरत हो, गुरु शिष्य परंपरा के तहत पारंपरिक लोक कलाएं सीखने वाले बच्चे सहित इस प्रकार के अन्य विधाओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे कलाकारों छात्र-छात्राओं को मासिक छात्रवृत्ति प्रोत्साहन के रूप में प्रदान करने के उद्देश्य से अर्थाभावग्रस्त होनहार युवा कलाकारों-छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना, 2021 शुरू की गई है।

इन विधा के कलाकार कर सकते है आवेदन

योजना के तहत लोक-पारंपरिक जनजातीय कलाएं व उप विधाएं, शास्त्रीय संगीत, शास्त्रीय नृत्य। नृत्य संगीत, रंगमंच, दृश्य कला, सुगम शास्त्रीय संगीत का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे या अध्ययनरत होनहार युवा कलाकार-छात्र-छात्राएं इसका लाभ ले सकते हैं। योजना का लाभ लेने के लिए छत्तीगसढ़ का निवासी हो, आवेदक की आयु 15 वर्ष से कम और 30 वर्ष से अधिक न हो, आवेदक और उनके परिवार की वार्षिक आय 72 हजार रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए।

आवेदक का संस्कृति विभाग के चिन्हारी पोर्टल में पंजीयन अनिवार्य है। विधा, निर्धारण, वार्षिक प्रोत्साहन न्यूनतम राशि पांच हजार से अधिकतम 10 हजार रुपये होगी। इसके लिए कलाकार संबंधित विस्तृत जानकारी विभागीय वेबसाइट पर अवलोकन कर सकते हैं।

व्यापमं की संयुक्त भर्ती परीक्षा 26 दिसंबर को

राजधानी में छत्तीसगढ़ व्यवसायिक परीक्षा मंडल (व्यायाम) की संयुक्त भर्ती परीक्षा विभिन्ना स्कूलों में 26 दिसंबर को होगी। परीक्षा परियोजना क्षेत्रपाल, स्टेनो टायपिस्ट, स्टेनो ग्राफर (हिंदी/अंग्रेजी) की होगी। परीक्षा के दौरान सभी परीक्षार्थियों और अधिकारियों-कर्मचारियों को कोविड-19 महामारी के दिशा-निर्देशानुसार शारीरिक दूरी, सेनेटाईजेशन, मास्क पहनना समेत अन्य निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.