राजनांदगाव – खैरागढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने कब्जा कर लिया है। यहां कांग्रेस प्रत्याशी यशोदा वर्मा ने भाजपा प्रत्याशी कोमल सिंह जंघेल पर 20 हजार से अधिक वोटों से जीत दर्ज की है। मुख्यमंत्री ने इस जीत के लिए खैरागढ़ की जनता का आभार जताया है। बता दें कि खैरागढ़ में विधायक देवव्रत सिंह के निधन के बाद उपचुनाव कराया गया है।

खैरागढ़ सीट पर जीत दर्ज करने के लिए कांग्रेस ने जहां अपने सारे मंत्रियों को चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतार दिया था, वहीं भाजपा ने केंद्रीय मंत्रियों तक को आमंत्रित किया था। 12 अप्रैल को यहां मतदान हुआ। तेज गर्मी के बावजूद यहां 78 फीसद वोट पड़े। शनिवार सुबह शुरू हुई मतगणना में कांग्रेस प्रत्याशी यशोदा वर्मा ने पहले से लेकर आखिरी 21वें राउंड तक बढ़त बनाए रखी।

मतों की गिनती पूरी होने के बाद उन्होंने कोमल जंघेल पर 20 हजार 176 मतों से जीत दर्ज की। खैरागढ़ में जीत के साथ ही 90 सदस्यीय सदन में कांग्रेस के विधायकों की संख्या 71 पहुंच गई है। इस जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए यशोदा ने कहा कि जनता ने भूपेश सरकार के कामकाज पर मुहर लगाई है, वहीं कोमल ने जनता के फैसले को स्वीकार करते हुए कांग्रेस पर जीत के लिए हथकंडे अपनाने का आरोप लगाया है।

सरकार पर जनता ने जताया विश्वास – सीएम भूपेश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस प्रत्याशी को भारी मतों से मिली जीत पर कहा है कि खैरागढ़ की जनता ने राज्य सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों और कार्यक्रमों के प्रति एक बार फिर अपना विश्वास जताया है।

खैरागढ़ को जिला बनाने की घोषणा ने आसान की राह

माना जा रहा है कि मतदान के कुछ दिनों पहले चुनाव जीतने के 24 घंटे के भीतर खैरागढ़ को जिला बना देने की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा की गई घोषणा ने यहां कांग्रेस की राह आसान कर दी। सभी की नजर अब इस घोषणा के पूरी किए जाने पर रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.