बीएसपी में नौकरी लगाने के नाम पर 27 लाख रुपये की ठगी

रायपुर- राजधानी रायपुर में एक बार फिर से नौकरी लगवाने के नाम पर 27 लाख रुपयों की ठगी का मामला सामने आया है। ठगी के शिकार हरीश रात्रे की शिकायत पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने आरोपित नोहर सोनवानी और उसके साथी चंद्रशेखर सेन के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। हरीश रात्रे, संजय लहरे, बादल दास मानिकपुरी, हितेश रात्रे, डिटेक्टर पात्रे, लक्ष्मण चंद्राकर सहित अन्य युवकों ने आरोप लगाया है कि आरोपी नोहर और चंद्रशेखर द्वारा स्वास्थ्य विभाग में सहायक ग्रेड तीन के पद पर और बीएसपी में नौकरी लगवाने का झांसा देते हुए 27 लाख रुपए ठग लिए।

आरोपितों ने यह पैसा किस्तों में नगद लिया और बैंक खाते में भी जमा करवाया है। फिलहाल आरोपितों का पता लगाकर पुलिस टीम उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही है। बताते चलें कि इन दिनों नौकरी लगवाने, मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलवाने के नाम पर लोगों को ठगने का काम छत्तीसगढ़ में चल रहा है। पुलिस का सुझाव है कि लोग ऐसे किसी झांसे में न आएं।

एमबीबीएस में दाखिले के नाम पर की थी ठगी

इससे पहले मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के नाम पर छात्रा से करीब आठ लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। ठगों ने झांसा दिया कि वह छात्रा का एडमिशन रिम्स कॉलेज में एमबीबीएस की सीट पर करवा देंगे। पंडरी थाना पुलिस ने बताया कि वारदात की रिपोर्ट दलदल सिवनी निवासी बबीता साहू ने की है।

बबीता साहू ने बताया कि आरोपितों ने छात्रा के नीट परीक्षा देने से पहले उनसे संपर्क किया और नतीजा आने के बाद भी संपर्क किया था। सुरेन्द्र कामत, विधानंद वर्मा और विश्वजीत शाह ने महिला को झांसा दिया कि वे उसकी बेटी का दाखिला रिम्स में करवा देंगे। इसके बदले में उन्हें महिला से आठ लाख रुपये लिए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.