महिला आपरेटर से करता था अश्लील बातें

राजनांदगांव/MyNews36- देखा जाता है कि पुलिस का जहां स्वार्थ सिद्ध नहीं होता उस पर फौरी जांच, कार्रवाई कर दी जाती है और जहां स्वार्थ होता है उस पर कार्रवाई में ढीले कर देते हैं।ऐसे ही डीले कार्रवाई का एक मामला सामने आया है राजनांदगांव जिले के छुरिया थाने में, जहां दो साल बाद भी बम्हनी चारभाठा आदिम जाति सहकारी समिति के प्रबंधक दिनेश सिंह ठाकुर पिता जय नारायण ठाकुर के खिलाफ दर्ज छेडख़ानी और अश्लीलता के मामले का चालान पेंडिंग पड़ा हुआ हैं। थाने में इतने लंबे समय से चालान पेडिंग होने के पीछे पुलिस के स्वार्थ का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

पीडित महिला द्वारा हाल ही में एसपी राजनांदगांव के पास फिर से न्याय की गुहार लगाए जाने के बाद छुरिया पुलिस के कान खड़े हो गए हैं। छुरिया थाना प्रभारी मरकाम ने स्वीकार किया कि मामले का चालान पुटअप नहीं हो पाया है।

उनका कहना है कि फिलहाल कोरोना चलते कोर्ट चालानी नहीं ले रहा है। स्थिति नार्मल होने के बाद चालान पेश किया जाएगा।

ज्ञात हो कि बम्हनी चारभाठा आदिम जाति सहकारी समिति में काम करने वाली एक महिला कंप्यूटर आपरेटर की रिपोर्ट पर छुरिया पुलिस ने 25 जुलाई 2018 को भादवि की धारा 354 और 509 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था। मामले में आरोप था कि समिति प्रबंधक महिला से मोबाईल पर अश्लील बातें करता था और शारीरिक शोषण की मांग करता था।

महिला की ओर से दर्ज रिपोर्ट पर छुरिया पुलिस ने फौरी तौर पर अपराध तो दर्ज कर लिया किन्तु न जाने ऐसी कौन सी परिस्थिति निर्मित हुई कि आज तक चालान पुटअप नहीं हो पाया।महिला ने हाल ही में जून महीने में एसपी जितेंद्र शुक्ल को लिखित में शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है। शिकायत के बाद पुलिस हरकत में आ गई है।

समिति प्रबंधक ने कहा- जमानत ले लिया हूं

इस संबंध में समिति प्रबंधक दिनेश ठाकुर का कहना है कि-पुलिस ने अभी तक चालान पेश क्यों नहीं किया ये तो वे ही बताएंगे। महिला आखिर में क्या चाहती है ये उन्ही से पुछा जा सकता है। मैंने तो राजनांदगांव कोर्ट से अग्रिम जमानत ले लिया है।ठाकुर ने घटना के बारे में ज्यादा कुछ और न कहते हुए कहा कि जो हो गया सो हो गया।

MyNews36 संवाददाता पूरन साहू की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.